CrimeState

पत्नी संग दरिंदगी सुन उड़ जाएंगे होश… पति ने घर में ही की करतूत… बच्चे गए थे पढ़ने स्कूल

गुमला। गुमला जिले के पालकोट प्रखंड क्षेत्र के बंगरु गांव में सोमवार को पति राजेन्द्र बड़ाईक ने टांगी से काटकर अपनी पत्नी अनुराधा देवी की हत्या कर दी। उसकी उम्र करीब 30 वर्ष थी। वह चार बच्चों की मां थी। उसके मासूम बच्चे पढ़ने के लिए स्कूल गए हुए थे। घर में कोई नहीं था। किसी को भनक तक नहीं लगी। राजेंद्र बड़ाईक नशे में घर पहुंचा। दरवाजा बंद किया। इसके बाद टांगी से पत्नी पर वार कर दिया। वह टांगी से तबतक प्रहार करता रहा, जबतक उसकी मौत नहीं हो गई।

राजमिस्त्री का काम करता है राजेंद्र बड़ाईक

हत्या करने के बाद राजेंद्र बड़ाईक घर ने बाहर से घर का दरवाजा बंद कर दिया। इसके बाद चुपचाप घर से भाग गया। जब उसकी हालत अस्त-व्यस्त देखकर ग्रामीणों ने रास्ते में सवाल किया तो उसने कहा- बकरी काट कर आ रहा हूं। ग्रामीणों ने उसकी बात पर विश्वास कर लिया और राजेंद्र बड़ाईक फरार हो गया। वह पेशे से राजमिस्त्री का काम करता है। कहा जा रहा कि घरेलू विवाद के कारण उसने पत्नी की हत्या की है। लेकिन यह खुलासा नहीं हुआ है कि किस बात को लेकर घरेलू कलह हुआ था।

स्कूल से पर शव देखकर रोने लगे बच्चे

ग्रामीणों की मानें तो राजेंद्र बड़ाईक हमेशा शराब का सेवन करता था। अक्सर वह नशे में ही नजर आता था। घटना के दिन भी उसने शराब पी रखी थी। जब उसके बच्चे स्कूल से पढ़कर घर लौटे तो देखा कि बाहर से दरवाजा बंद है। उन्होंने दरवाजा खोला। जब घर के अंदर गए तो देखा कि मां खून से लथपथ पड़ी है। उसकी मौत हो चुकी है। बच्चे बिलखबिख कर रोने लगे। चिल्लाने लगे। उनकी आवाज सुनकर आसपास के ग्रामीण वहां पहुंचे तो घर का मंजर देखकर दंग रह गए।

तीन दिन पहले मायके से आई थी अनुराधा

बच्चों ने बताया कि मां तीन दिन पहले ही मायके से घर आई थी। पिता और मां के बीच रविवार की रात में खूब लड़ाई हुई थी। पिता ने मां की जमकर पिटाई कर दी थी। मां बहुत दुखी और परेशान थी। बच्चों को नहीं पता कि दोनों के बीच किस बात को लेकर लड़ाई हुई थी। लड़ाई के बाद दोनों शांत हो गए थे। सोमवार की सुबह हुई तो हर दिन की तरह बच्चे पढ़ने के लिए स्कूल चले गए। घर पर मां और पिता अकेले थे। उनके स्कूल जाने के बाद पिता घर से बाहर गए। शराब पीकर घर लौटे और मां की टांगी से काटकर हत्या कर दी।

ग्रामीणों ने दी पुलिस को घटना की सूचना

ग्रामीणों ने इस घटना की सूचना पुलिस को दी। पुलिस मौके पर पहुंची। शव को जब्त कर पोस्टमार्टम के लिए अस्पातल ले गई। राजेंद्र बड़ाईक घर से फरार है। पुलिस अब उसे खोज रही है। वह अभी तक पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ा है। पुलिस का कहना है कि उसकी गिरफ्तारी के बाद ही यह साफ हो पाएगा कि उसने हत्या क्यों की। पुलिस हर संभावित ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। पुलिस का दावा है कि बहुत जल्द वह गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

मां की मौत के बाद अनाथ हो गए चार बच्चे

मृतका अनुराधा देवी चार बच्चों की मां थी। बड़ी बेटी प्रियंका दस वर्ष की है। दूसरी बेटी रागिनी आठ वर्ष की है। तीसरा बेटा अतुल बड़ाईक पांच वर्ष का है और चौथा बेटा आदित्य अभी चार साल का है। मां की मौत के बाद ये चारों बच्चे अनाथ हो गए हैं। उन्हें समझ में नहीं आ रहा कि उनका भरण-पोषण कौन करेगा। इन बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल है। बच्चे मां को खोज रहे हैं। बिलख रहे हैं। पिता गायब है। आस-पड़ोस के लोग बच्चों को सहारा दे रहे हैं। हर कोई इस शर्मनाक घटना को देख-सुनकर दुखी है।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker