World

‘शराब के देवता’ की मिली मूर्ति, 50 साल पहले हो गई थी चोरी

पेरिस: करीब 50 साल पहले चुराई गई ग्रीक-रोमन देवता बैकस या डायोनिसस (Bacchus or Dionysus) की मूर्ति मिल गई है. ‘डच आर्ट डिटेक्टिव’ आर्थर ब्रांड ने इस दुर्लभ रोमन प्रतिमा को म्यूजियम को सौंप दी.

इस मूर्ति को फ्रांस के सबसे महत्वपूर्ण खजाने में से एक समझा जाता था. बता दें कि ग्रीको-रोमन संप्रदाय (Greco-Roman Religion) में बैकस या डायोनिसस को शराब का देवता (God of Wine) माना जाता है.

खिड़की तोड़कर हुई थी चोरी

आर्थर ब्रांड ने पूर्वी फ्रांस में मुसी डू पेज़ चैटिलोनैस के निदेशक को भगवान बैकस की पहली शताब्दी की कांस्य की प्रतिमा वापस सौंप दी है. दिसंबर, 1973 की एक सर्द रात में चोरों ने खिड़की तोड़कर ‘शराब के देवता’ Bacchus की 40 सेमी की मूर्ति को चुरा लिया था. तब से मूर्ति की तलाश की जा रही थी, लेकिन कोई सफलता नहीं मिल सकी थी

5,000 रोमन सिक्के भी हुए थे चोरी

ब्रांड ने बताया कि चोरों ने कुछ रोमन पुरावशेषों और लगभग 5,000 रोमन सिक्कों को चुरा लिया था, लेकिन इसमें सबसे महत्वपूर्ण ग्रीक-रोमन देवता बैकस या डायोनिसस की कांस्य की एक भी प्रतिमा थी. संग्रहालय के निदेशक ने मूर्ति वापस मिलने पर खुशी जताते हुए कहा कि यह एक भावुक पल है. उन्होंने कहा कि हम सभी ग्रीक-रोमन देवता की प्रतिमा को वापस म्यूजियम में देखना चाहते थे और अब हमारी ये इच्छा पूरी हो गई है.

स्थानीय लोगों ने जताई खुशी

पहली शताब्दी की यह मूर्ति अब मुसी डू पेज़ चैटिलोनैस के पास है. यह म्यूजियम वर्टिलम के पास के पुरातात्विक खुदाई स्थल से रोमन कलाकृतियों के संग्रह के लिए प्रसिद्ध है. यह स्थल एक प्राचीन गैलो-रोमन गांव है जिसकी खुदाई पहली बार 1846 में की गई थी. स्थानीय लोगों ने ‘शराब के देवता’ Bacchus की प्रतिमा वापस मिलने पर खुशी जाहिर की है.

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker