World

महिला को लगी प्रेग्नेंट होने की लत, अब पड़ोसी के लिए पैदा करने वाली है 10वां बच्चा

दुनिया में लोगों को कई तरह की लत लगती है. किसी को स्टैम्प जमा करने की लत लगती है तो किसी को पुराने नोट जमा करने लत लगती है. लेकिन अगर आपको पता चले कि किसी को प्रेग्नेंट होने की लत लगी हो तो?

जी हां, एक महिला ने ऑनलाइन अपनी इसी लत के बारे में लोगों के साथ शेयर किया. इस महिला को प्रेग्नेंट (Woman Loves To Be Pregnant) रहना काफी पसंद है. वो ना सिर्फ खुद बार-बार प्रेग्नेंट होती है बल्कि दूसरे कपल के लिए भी बच्चे पैदा करते रहती है.

इंग्लैंड के हेडर्सफील्ड (Huddersfield) में रहने वाली लौरा ने अभी तक 9 बच्चे को जन्म दे दिया है. इसमें से चार उसके अपने बच्चे हैं जबकि पांच उसने दूसरों के लिए पैदा किया है. 11 साल पहले उसने अपने पहले सरोगेट बच्चे को जन्म दिया था. इसके सिर्फ आठ महीने बाद ही उसने दूसरे परिवार के लिए दूसरी बार सरोगेसी अपनाई और इस बार जुड़वा बच्चे को जन्म दिया.

अपने हर सरोगेट बच्चे को उसने IVF से पैदा किया है. यानी हर बच्चे को उसने नॉन जेनेटिकली पैदा किया है.ExaminerLive को दिए इंटरव्यू में उसने बताया कि उसे मां बनना काफी पसंद है. ये दुनिया का सबसे खूबसूरत अहसास है. साथ ही उसे दूसरों के लिए बच्चे पैदा कर उनकी गोद भरना काफी पसंद है.

उसे दूसरों को पैरेंट्स बनाने में काफी ख़ुशी मिलती है. अपनी सरोगेसी को लेकर उसने कहा कि दो बच्चे पैदा करने के बाद उसने सरोगेसी का फैसला किया था. उसने आगे बताया कि किसी ऐसे कपल के लिए बच्चा पैदा करना, जिसकी झोली खाली रही हो काफी खूबसूरत अहसास है.

अब लौरा अपने पड़ोसी के लिए सरोगेट मदर बनने वाली है. ये लौरा का दसवां बच्चा होगा. सरोगेसी को लेकर लौरा ने आगे बताया कि लोगों को ऐसा लगता है कि सरोगेट मदर को काफी पैसे मिलते हैं.

लेकिन आपको बता दें कि यूके में सरोगेसी को लेकर पेमेंट का ऑप्शन नहीं है. वहां सिर्फ जरुरी खर्चे ही देने की सुविधा है. लौरा ने आगे कहा कि वो किसी की मदद नहीं करती. सिर्फ अपने मन को सुकून देने के लिए सरोगेसी अपनाती है.

अब लौरा अपने पड़ोसी के लिए सरोगेट मदर बनने वाली है. ये लौरा का दसवां बच्चा होगा. सरोगेसी को लेकर लौरा ने आगे बताया कि लोगों को ऐसा लगता है कि सरोगेट मदर को काफी पैसे मिलते हैं. लेकिन आपको बता दें कि यूके में सरोगेसी को लेकर पेमेंट का ऑप्शन नहीं है. वहां सिर्फ जरुरी खर्चे ही देने की सुविधा है. लौरा ने आगे कहा कि वो किसी की मदद नहीं करती. सिर्फ अपने मन को सुकून देने के लिए सरोगेसी अपनाती है.

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker