World

डॉक्टर की घिनौनी करतूत: इलाज के दौरान अपने ही स्पर्म से 21 महिलाओं को बना दिया मां, 30 साल बाद खुलासा

ऐम्स्टर्डैम. नीदरलैंड (Netherlands) में एक डॉक्टर की ऐसी घिनौनी करतूत सामने आई है जिससे लोग भी हैरान हैं. इन डॉक्टर ने करीब 21 बच्चों को पैदा करने के लिए अपने स्पर्म का इस्तेमाल किया. इतना ही नहीं इस डॉक्टर ने और भी दर्जनों कपल्स के साथ ऐसा करने की कोशिश की.

करीब 20-40 साल पहले हुई इस हरकत का खुलासा एक पड़ताल के जरिए हुआ है. इस डॉक्टर का नाम जोस बीक बताया गया है जिसकी मौत साल 2019 में हो गई थी. बीक नीदरलैंड के एलरीजने अस्पताल में काम करने से पहले लीडरडॉर्प के एलिजाबेथ अस्पताल में काम करता था. जहां साल 1973 से 1998 के बीच उसने तमाम महिलाओं को प्रेग्नेंट करने के लिए अपने स्पर्म का इस्तेमाल किया.

बीक जिन लोगों का इलाज कर रहे थे उनमें जो स्पर्म पाए गए थे उनके बारे में कोई जानकारी नहीं थी. जांच में ऐसी आशंका जताई गई है कि ये गुमनाम सैंपल बीक के ही रहे होंगे. एलरीजने अस्पताल ने कहा कि उसे नहं लगता है कि बीक ने किसी को इस सच के बारे में कभी बताया होगा.

इस घोटाले का खुलासा एक ऐसे संगठन ने किया जो गुमनाम स्पर्म डोनर्स के जरिए पैदा हुए लोगों के बायोलॉजिकल माता-पिता का पता लगाता है. इसमें बीक के डीएनए और 21 बच्चों के बीच एक मैच पाया गया, जिनकी मांओं ने 1973 और 1986 के बीच उनके क्लिनिक में इलाज कराया था.

जनवरी की शुरुआत में गठित की गई जांच समिति

फियोम समूह ने इस बारे में पिछले साल जून में एलरीजने अस्पताल से संपर्क किया. अस्पताल ने जनवरी की शुरुआत में जांच के लिए एक स्वतंत्र समिति गठित की.

एलरीजने अस्पताल के निदेशक मंडल के एक सदस्य पीटर जू ने कहा कि वह इस संभावना से इनकार नहीं कर सकते कि बीक कई महिलाओं का इलाज करने के बाद उनके बच्चों के जैविक पिता बन गए थे.

हालांकि उस समय के अस्पताल के रिकॉर्ड अब मौजूद नहीं हैं, इसलिए लोगों से आगे आकर अपनी जानकारी देने की अपील की गई है.

नीदरलैंड में बीक तीसरा फर्टिलिटी डॉक्टर था जिसने प्रजनन उपचार के दौरान अपने स्पर्म का इस्तेमाल किया है.

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker