HealthWorld

कोरोना होने से प्राइवेट पार्ट हो गया 1.5 इंच छोटा, दावा सुनकर डॉक्टर्स भी हुए हैरान

अमेरिका में एक शख्स ने यह दावा करके सभी को हैरान कर दिया है कि कोरोना संक्रमित होने के बाद उसका प्राइवेट पार्ट(लिंग) 1.5 इंच तक सिकुड़ गया है। उसने ये भी कहा है कि कोरोना से उसके वस्कुलर सिस्टम को नुकसान पहुंचा। शख्स का दावा है कि कोरोना संक्रमण से पहले उसके लिंग का आकार औसम से ऊपर था। इस दुर्लभ लक्षण को लेकर एक स्टडी में सनसनीखेज नतीजे सामने आए हैं।

सेक्स एडवाइस पॉडकॉस्ट ‘हाउ टू डू इट’ में इस शख्स ने अपनी परेशानी बताई है। बकौल पीड़ित, जुलाई 2021 में वह कोरोना संक्रमित हो गया था और अस्पताल में भर्ती की नौबत आई थी। शख्स ने दावा किया है कि जब वह अस्पताल से घर लौटा तो कुछ दिनों में उसे महसूस हुआ कि उसका लिंग पहले की तुलना में छोटा हो गया है। शख्स का ये भी कहना है कि लिंग के छोटा होने के कारण उसके आत्मविश्वास और सेक्स क्षमताओं पर गहरा प्रभाव पड़ा है। ‘हाउ टू डू इट’ ने इस शख्स की पहचान गुप्त रखी है। हालांकि इस व्यक्ति की उम्र 30 साल के करीब बताई जा रही है।

मिरर ऑनलाइन में छपि खबर के मुताबिक, उस व्यक्ति ने कहा वह कोरोना बीमारी से उबरने के बाद इरेक्टाइल डिसफंक्शन (नपुंसकता) का शिकार हुआ। कई महीने तक इस बीमारी से छुटकारे के लिए इलाज भी करवाया, लेकिन सफल नहीं हो सका। उसने दावा किया डॉक्टरों ने उसे बताया कि लिंग के आकार में कमी स्थायी रूप से बनी रह सकती है। इसका कारण लिंग की नसों में खून का कम पहुंचना है।

शोध में दुर्लभ निकला लक्षण

लंदन के यूनिवर्सिटी कॉलेज के अध्ययन में कोरोना और लिंग की लंबाई घटने में संबंध होने का दावा किया गया था। इस शोध में कोरोना से लंबे समय तक प्रभावित रहे 3400 लोगों को शामिल किया गया था। इसमें से 200 लोगों में लिंग के पहले की अपेक्षा छोटा होने का दुर्लभ मामला पाया गया था। अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ मियामी मिलर स्कूल ऑफ मेडिसिन ने भी वर्ल्ड जर्नल ऑफ मेन्स हेल्थ में इसी से संबंधित एक अध्ययन प्रकाशित किया था। इसमें दावा किया गया था कि लंबे समय तक कोरोना के कारण कुछ लोगों में नपुंसकता के लक्षण देखे गए हैं।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker