Uttarakhand

उत्तराखंड में BJP के किसी सीएम ने पूरा नहीं किया पांच साल का कार्यकाल, क्‍या पुष्कर सिंह धामी रचेंगे इतिहास?

उत्तराखंड में भाजपा के किसी भी मुख्यमंत्री ने अभी तक पांच साल का कार्यकाल पूरा नहीं किया। उत्तराखंड गठन के 20 साल में सिर्फ कांग्रेस मुख्यमंत्री एनडी तिवारी ही अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा कर पाए हैं। खटीमा विधानसभा सीट से हार के बावजूद भाजपा हाईकमान ने पुष्कर सिंह धामी पर एक बार फिर भरोसा जताया है।

अब देखना यह दिलचस्प होगा कि क्या सीएम पुष्कर सिंह धामी मुख्यमंत्री कार्यकाल का पांच साल का रिकॉर्ड बना पाएंगे। 2022 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी भुवन चंद्र कापड़ी से मिली हार के बाद धामी काे सीएम रेस से बाहर बताया जा रहा था। लेकिन, भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने सीएम धामी के नाम पर ही हामी भरी है।

विधानसभा चुनाव 2022 में भाजपा को 47 सीटें मिलीं थी, जबकि कांग्रेस को सिर्फ 19 सीटों से ही संतुष्ट होना पड़ा था। 70 विधानसभा सीटों वाले उत्तराखंड में दो-दो सीटें निर्दलीय और बसपा उम्मीदवारों ने जीतीं हैं।

भाजपा ने उत्तराखंड में तोड़ा मिथक

उत्तराखंड के 20 साल के इतिहास में कोई भी राजनैतिक पार्टी दोबारा सरकार बनाने में कामयाब नहीं रही। 2000 में भाजपा के बाद 2002 में कांग्रेस ने उत्तराखंड में सरकार बनाई। 2007 में भाजपा ने वापसी करते हुए एक बार फिर सरकार बनाई ताे 2012 में कांग्रेस की वापसी हुई। 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने एक बार फिर उत्तराखंड में सरकार बनाई। 2022 के विधानसभा चुनावों में जनता ने एक बार फिर भाजपा पर ही भरोसा जताया।

त्रिवेंद्र भाजपा के सबसे लंबे कार्यकाल वाले सीएम

त्रिवेंद्र सिंह रावत बीजेपी की तरफ से सबसे लंबे कार्यकाल वाले मुख्यमंत्री साबित हुए हैं। उनका कार्यकाल आगामी 18 मार्च को ही चार साल का पूरा होने को था। भाजपा की तरफ से सबसे कम कार्यकाल चार महीने का भगत सिंह कोश्यारी का रहा। भाजपा ने उत्तराखंड में अब तक कुल मिलाकर करीब साढ़े दस साल शासन किया। इस दौरान उसकी छह सरकारें अब तक बन चुकी हैं।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker