Uttar Pradesh

UP Election Result: BJP की जीत से अखिलेश समर्थक ने हारी शर्त, अब देनी होगी 4 बीघा जमीन

बदायूं. उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (UP Assembly Election) के नतीजे आ चुके हैं. BJP ने 255 सीटों पर विजयी पताका फहरा कर सत्‍ता में वापसी की है. इस बीच यूपी के बदायूं (Badaun) से एक दिलचस्प मामला सामने आया है, जिसमें 4 बीघे जमीन की जोत दांव पर लग गई थी. यूपी के चुनाव नतीजों पर बीजेपी और सपा के समर्थक के बीच 4 बीघा जमीन की शर्त लगी थी, जिसका गवाह पूरा गांव बना था.

फिलहाल यूपी में योगी सरकार बनने के बाद अखिलेश समर्थक के हाथ पांव फूल गए है, क्योंकि शर्त के मुताबिक सपा समर्थक शेर अली को 4 बीघा जमीन विजय सिंह को देनी पड़ेगी. जानकारी के मुताबिक, यूपी के चुनाव नतीजों पर बीजेपी और सपा के दो समर्थकों विजय सिंह और शेर अली के बीच एक ऐसी शर्त लगी है, जिसका गवाह पूरा गांव बना है. बकायदा अंगूठे का निशान लगाकर करारनामा तैयार किया गया है, जो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

यह उत्तर प्रदेश और उसके चुनाव नतीजों के प्रति फ़िक्र ही है कि एक बेहद दिलचस्प शर्त दोनों के बीच लगी है, जिसने सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद सियासी गर्माहट के बीच लोगों का ध्यान खींच लिया है. कुछ लोग जहां विजय सिंह और शेर अली शाह की इस शर्त की तारीफ भी कर रहे हैं.

मामला बदायूं के शेखूपुर विधानसभा क्षेत्र का है. यहां के ककराला नगर पालिका के तहत आने वाले बिरियाडांडी गांव में दो किसानों के बीच राजनीतिक भविष्यवाणी को लेकर बहस हो गई. लेकिन, यहां दोनों के बीच बात इतनी बढ़ गई कि मामला पंचायत तक जा पहुंचा. इससे पहले विजय सिंह का कहना है कि भाजपा सरकार बनेगी तो शेर अली दावा कर रहे हैं कि सपा जीतने जा रही है.जमीन देने से मुकरा सपा समर्थक इसके बाद गांव के प्रमुख लोगों को बुलाकर पंचायत लगाई गई.

इस दौरान दोनों ने शर्त लगाई कि यदि बीजेपी की सरकार बनी तो शेर अली शाह अपनी चार बीघा जमीन विजय सिंह को एक साल तक खेती के लिए देंगे. वहीं, यदि सपा की सरकार बनी तो विजय सिंह को 4 बीघा जमीन एक साल के लिए शेर अली के हवाले करनी होगी. दोनों में से कोई पक्ष मुकर न जाए, इसके लिए गांव के प्रमुख लोगों को इसमें गवाह बनाया गया. उधर, शेर अली ने शर्त के बाद 4 बीघा जमीन देने से मुकर गया है. बताया जा रहा है कि विजय सिंह पर जमीन देने का शेर अली दवाब बना रहा है. मामला पुलिस के पास पहुंच गया है.

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker