Uttar Pradesh

UP Chunav: लखनऊ कैंट सीट बनी जंग का मैदान, BJP MLA बोले- मेरी दावेदारी मजबूत, अपर्णा यादव नहीं लड़ेंगी चुनाव

लखनऊ. यूपी विधानसभा चुनाव (UP Election 2022) में दिनों दिन सियासी दांव पेच बढ़ते जा रहे हैं. इस बीच लखनऊ कैंट से भाजपा विधायक सुरेश तिवारी (Suresh Tiwari) ने बड़ा बयान दिया है. उन्‍होंने का दावा किया कि लखनऊ कैंट से मेरी दावेदारी मजबूत है, अपर्णा यादव (Aparna Yadav) यहां से चुनाव नहीं लड़ेंगी.

दरअसल लखनऊ कैंट विधानसभा सीट इस समय सबसे हॉट सीट बनी हुई है. इस वजह से भाजपा के दिग्गजों की नजर इस सीट पर है. भाजपा इस सीट पर छह बार जीत दर्ज कर चुकी है, लिहाजा हर कोई इसे अपने लिए सबसे सुरक्षित मान रहा है.

इसके साथ भाजपा विधायक सुरेश तिवारी ने कहा कि मैं भारतीय जनसंघ के दौर से पार्टी का सिपाही हूं.पार्टी नेतृत्व जनता है कि मैं चुनाव लड़ना चाहता हूं. मैं पार्टी के लिए लगातार प्रचार कर रहा हूं और चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहा हूं. मुझे उम्मीद है पार्टी मुझे ही अवसर देगी. मैं इससे पहले भी रीता बहुगुणा जोशी के लिए अपनी सीट छोड़ चुका है.

अपर्णा यादव को लेकर कही ये बात

लखनऊ केंट से भाजपा विधायक सुरेश तिवारी ने अपर्णा यादव को लेकर कहा कि उनका भाजपा परिवार में स्वागत है. वह चुनाव नहीं लड़ेंगी, क्‍योंकि वो अभी पार्टी में आईं हैं, वो पार्टी के लिए काम करेंगी.

यूपी में कब-कब है वोटिंग

उत्तर प्रदेश में इस बार सात चरणों में मतदान होना है. इसकी शुरुआत 10 फरवरी को पश्चिमी यूपी के 11 जिलों की 58 सीटों पर मतदान के साथ होगी. इसके बाद दूसरे चरण में राज्य की 55 सीटों पर मतदान होगा. वहीं, तीसरे चरण में 59, चौथे चरण में 60, पांचवें चरण में 60 सीटों, छठे चरण में 57 और सातवें चरण में 54 सीटों पर मतदान होगा. 10 फरवरी को पहले चरण के मतदान के बाद 14 फरवरी को दूसरे चरण, 20 फरवरी को तीसरे चरण, 23 फरवरी को चौथे चरण, 27 फरवरी को पांचवें चरण, 3 मार्च को छठे चरण और 7 मार्च को सातवें चरण के लिए मतदान होगा. वहीं, यूपी चुनाव के नतीजे 10 मार्च को आएंगे.

पिछले विधानसभा चुनाव के ऐसे थे नतीजे

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017 में भाजपा ने 403 में से 325 सीटों पर जीत दर्ज की थी. सपा और कांग्रेस ने साथ मिलकर चुनाव लड़ा था. सपा ने 47 और कांग्रेस ने 7 सीटें ही जीती थीं. मायावती की बसपा 19 सीटें जीतने में कामयाब रही थी. वहीं, 4 सीटों पर अन्य का कब्जा हुआ था.

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker