Uttar Pradesh

UP: मासूम चिल्‍लाती रही मम्‍मी फांसी मत लगाओ, मेरा और भाई का क्‍या होगा, फिर भी फंदे पर झूल गयी महिला

अलीगढ़,  अपने पति की करतूतों से तंग आकर मायके में रह रही महिला ने गाटर के कुंदे से फंदा लगाकर अपनी जान दे दी। सूचना पर पहुंची इलाका पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए अलीगढ़ भेजा है। छह साल पहले हुई थी शादी  के कस्बा सादाबाद निवासी अनिल कुमार के साथ हुई थी। आरोप है कि शादी के दो साल बाद ही उसके ससुराल वालों ने अतिरिक्त दहेज की मांग करते हुए परेशान करना शुरू कर दिया। पिता कालीचरन ने बताया कि इस बाबत कई बार गांव में उसके घर पर पंचायत भी हुई।

मगर वह लोग अपनी करतूतों से बाज नहीं आये।  बेटी का पति भी शराबी हो गया। घर के जेवरात तक बेच दिये। आये दिन बेटी के साथ मारपीट करता था। छः माह से वह अपने बरला मायके में रह रही थी। कई दिनों से मानसिक रूप से परेशान थी। घर के सदस्य उसे काफी समझाते थे। गुरुवार की दोपहर उसने कमरा बंद कर गाटर के कुंदे में दुपट्टे से फांसी लगाकर जान दे दी।

मम्मी फांसी मत लगाओ, हमारा क्या होगा?

विमलेश ने शादी के छः सालों में जीवन के सारे उतार चढाव देखे। जब जिंदगी से हार मान ली तो मौत को गले लगा लिया। जब वह कमरा बंद कर फांसी लगा रही थी। उस समय उसकी बेटी 4 वर्ष लाडो और 2 वर्ष का बेटा अभय साथ था। फांसी लगाते हुए अपनी मां को बेटी लाडो ने देखा तो वह चीख चीखकर मां से यही कहती रही कि मां फांसी मत लगाओ, जान मत दो मेरा और भाई का क्या होगा? मगर वह फांसी पर लटक गई।

Action will be taken on receipt of Tahrir

थोड़ी देर बाद बच्ची ने किवाड़ खोलकर रोते हुए बाहर निकलकर लोगों को बताया कि मम्मी छत से लटकी हुई है। दौड़कर लोग आये। मगर जब तक उसकी सांसें थम गई थीं। सूचना पर एसओ घनश्याम सिंह पहुंच गये। शव को पोस्टमार्टम कराने के लिए अलीगढ़ भेजा है। सीओ शिव प्रताप सिंह ने बताया कि तहरीर मिलने पर मामले की जांच की जाएगी। उसी आधार पर अग्रिम कार्यवाई की जायेगी।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker