Uttar Pradesh

RRB Group D CBT : रेलवे ग्रुप डी भर्ती में एक परीक्षा के अलावा ये मांगें भी लेकर पहुंच रहे अभ्यर्थी

RRB Group D CBT 2022 : रेलवे की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों और शिक्षकों ने एनटीपीसी और ग्रुप डी में गड़बड़ी से संबंधित कई आपत्ति दर्ज कराई है। पटना व मुजफ्फरपुर आरआरबी के चेयरमैन के पास भी कई तरह सुझाव और समस्याएं दर्ज कराई गईं हैं। ईडब्ल्यूएस वर्ग के छात्र ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट से जुड़े मामले भी बोर्ड के समक्ष उठा रहे हैं। जब विज्ञापन 2019 में निकाला गया था, उसी समय का ईडब्ल्यूएस का सर्टिफिकेट मांगा जा रहा है।

जब नया नियम बना था, उस वक्त सर्टिफिकेट बनने में समस्या हो रही है। छात्रों ने आवेदन करते वक्त ईडब्ल्यूएस भर दिया था पर नियुक्ति के वक्त उस समय का सर्टिफिकेट नहीं रहने पर अभ्यर्थियों को हटा दिया जाएगा। इस मसले पर कई छात्रों को छूट देने का आवेदन दिया है। मामले पर आरआरबी पटना व आरआरबी मुजफ्फरपुर ने बताया कि इस मामले को बोर्ड की बैठक में रखा जाएगा।

ओबीसी वर्ग के छात्रों को भी आपत्ति

आरआरबी एनटीपीसी की परीक्षा में छात्रों को आरक्षण का लाभ सिर्फ एक ही बार दिया जा रहा है। इस मसले को ओबीसी के छात्रों ने उठाया है। वैसे छात्र जिनका चयन सीबीटी-1 में ओबीसी मेरिट में हुआ है। उनका चयन सीबीटी -2 की परीक्षा में अगर बेहतर अंक भी लाते हैं तो उनका चयन यूआर में नहीं होगा। इस मसले पर दोनों चेयरमैन ने बताया कि नियम यही है। आरक्षण का लाभ एक ही बार मिलता है। बोर्ड अंतिम फैसला करेगी।

एक उम्मीदवार केवल अपनी वरीयता के पद के अनुसार एक परिणाम

कोचिंग एसोसिएशन से जुड़े शिक्षकों ने कई बिंदुओं पर विचार करने को आरआरबी को आठ सुझाव दिए हैं। रेलवे भर्ती परीक्षा विशेषज्ञ नवीन सिंह ने बताया कि आरआरबी को महत्वपूर्ण सुझाव दिए हैं। इसपर गंभीरता पूर्वक ध्यान देना होगा। एक उम्मीदवार केवल अपनी वरीयता के पद के अनुसार एक परिणाम दें।

सुझाव दिए गए

– 2016 एनटीपीसी विधि या एएलपी 2018 के अनुसार आरआरबी एनटीपीसी सीबीटी 1 परिणाम की समीक्षा करें।
– आरआरबी एएलपी 2018 या आरआरबी एनटीपीसी 2016 के अनुसार सामान्यीकरण फॉर्मूला प्रक्रिया को दोबारा दोहराई जाए।

– आरआरबी ग्रुप डी की भी 2018 में गणना की गई, जिसमें 1.89 करोड़ छात्र थे। तब केवल सीबीटी-1 लिया गया था और अच्छी तरह से गणना की गई है।

– सीबीटी-1 में प्रदर्शन के आधार पर पीईटी पास 1.05 गुना (कुल वैकेंसी का) उम्मीदवारों को ही डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के लिए बुलाया जाएगा, वैकेंसी जितने नहीं।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker