Uttar Pradesh

Report Card: सीएम योगी बोले- 1947 से 2017 तक छठे स्‍थान पर था UP, अब देश की दूसरी बड़ी इकोनॉमी

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने अपनी सरकार के 5 वर्षों का रिपोर्ट कार्ड (Report Card) गुरुवार को पेश किया. रिपोर्ट कार्ड पेश करते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना स्पीड ब्रेकर की तरह हमारे सामने आया, लेकिन इसके बावजूद भी हमारी सरकार ने पूरी मेहनत के साथ विकास कार्य किया.

सीएम योगी ने कहा कि साल 1947 से 2017 तक यूपी की अर्थव्यवस्था (Economy) छठे- सातवें स्थान पर रहती थी, लेकिन आज यूपी की अर्थव्यवस्था देश में दूसरे नंबर पर है. सीएम योगी ने कहा कि पहले उत्तर प्रदेश में 43 से 46 हज़ार रुपए प्रति व्यक्ति वार्षिक आमदनी थी जो अब बढ़कर 94 हज़ार रुपये हो गया है.

योगी ने कहा कि 5 सालों में जो काम नहीं हुआ वो हमने पूरा किया. प्रदेश की अर्थव्‍यवस्‍था को छठे नम्बर से दूसरे स्‍थान पर लाया. वहीं, कोरोना में उत्तर प्रदेश में 551 से अधिक ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किए गए. उन्होंने कहा कि अब थर्ड वेव को हम पूरी तरह नियंत्रित कर चुके हैं. भारत दुनिया के लिए कोविड प्रबंधन की नजीर बन चुका है और उत्तर प्रदेश उस मॉडल में अग्रणी रहा. कोविड मैनेजमेंट में यूपी नम्बर एक पर रहा है. साथ ही उन्‍होंने बताया कि कोरोना लॉकडाउन के दौरान उनकी सरकार ने बड़ी संख्‍या में छात्रों-मजदूरों को उनके घरों तक सुरक्षित पहुंचाया.

सीएम योगी ने गिनाईं अपनी सरकार की उपलब्धियां, बोले- पांच साल में नहीं हुई कोई आतंकी घटना

किसानों का 86 हज़ार करोड़ कर्ज माफ करने का दावा
सीएम योगी ने कहा कि उनकी सरकार ने 86 हज़ार करोड़ रुपये का किसानों का ऋण माफ किया. इससे किसानों ने राहत की सांस ली है. उन्होंने कहा कि कोविड के बावजूद हमने
बजट को 6 लाख तक पहुंचाया. साथ ही निवेश के अच्छे गंतव्य के रूप में प्रदेश ने लंबी छलांग लगाई. आज प्रदेश इज़ ऑफ डूइंग बिजनेस में नम्बर 2 पर है. सीएम ने कहा कि 2017 से पहले यूपी का किसान सरकार की उपेक्षा के चलते आत्महत्या को मजबूर हुआ था. सरकारी उपेक्षा और भ्रष्टाचार के चलते यूपी का एमएसएमई सेक्टर खत्म हो गया था. हम वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट लाए, जिसका लाभ भी मिला.

18 नहर परियोजनाओं को पूरा करने का दावा

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने अपनी सरकार का रिपोर्ट कार्ड पेश करते हुए 18 नहर परियोजनाओं को पूरा करने का भी दावा किया. उन्‍होंने कहा कि इससे 37 से 38 लाख किसानों को फायदा मिला है. उन्‍होंने कहा कि वर्ष 2017 से पहले किसान आत्‍महत्‍या के लिए मजबूर था, हमारी सरकार ने उन्‍हें आढ़ती के चंगुल से राहत दिलाई. पहले आढ़तियों के हावी होने से किसानों को उनके फसल का उचित मूल्‍य नहीं मिलता था. साथ ही योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि बसपा सरकार ने 29 चीनी मिलों को औने-पौने दामों में बेच दिया था, भाजपा की सरकार ने चौधरी चरण सिंह की कर्मभूमि में चीनी मिलें शुरू करवाईं.

 

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker