Uttar Pradesh

UP : थाने के शौचालय में आंबेडकर की मूर्ति का वीडियो वायरल, दारोगा व दो सिपाही निलंबित…साजिश जानकर रह जाएंगे हैरान

इटावा । थाना परिसर के शौचालय में बाबा साहब डा. भीमराव आंबेडकर की मूर्ति रखे होने को लेकर इसका वीडियो वायरल होने पर एसएसपी जय प्रकाश सिंह ने थाना के दारोगा धर्मेंद्र शर्मा व दो आरक्षी कुलदीप व सचिन को निलंबित कर दिया है। इस मामले में बसपा के जिलाध्यक्ष सुरजन सिंह जाटव द्वारा एसएसपी से शिकायत की गई थी और बाबा साहब भीमराव आंबेडकर का अपमान बताया गया था।

बसपा जिलाध्यक्ष द्वारा इसका एक वीडियो भी जारी किया गया है। उन्होंने चौबिया थानाध्यक्ष जयप्रकाश सिंह पर आरोप लगाते हुए कार्रवाई की मांग की थी। पूरे मामले में एसएसपी ने एएसपी ग्रामीण सत्यपाल सिंह को मामले की जांच सौंपी थी। एएसपी ग्रामीण सत्यपाल सिंह ने बताया कि जांच के बाद थानाध्यक्ष की भूमिका सही पाई गई है। इस साजिश में थाना के दारोगा धर्मेंद्र शर्मा व आरक्षी कुलदीप व सचिन की मिली भगत पाई गई है। इन्हें निलंबित कर दिया गया है। उधर बसपा के एमएलसी भीमराव आंबेडकर ने भी मामले की जांच की मांग की है।

थानाध्यक्ष को थी फंसाने की साजिश: एएसपी ग्रामीण सत्यपाल सिंह ने बताया कि थानाध्यक्ष जयप्रकाश सिंह को फंसाने की साजिश की गई थी। वह अपने स्टाफ से सख्त लहजे में कार्य करा रहे थे जिसको लेकर स्टाफ नाखुश था। उसी के तहत दारोगा धर्मेंद्र शर्मा व सिपाही कुलदीप व सचिन द्वारा यह साजिश रची गई थी। यह मूर्ति दो साल पहले बीना गांव से आई थी। पहले यह मूर्ति थाना के नए परिसर में एक कमरे में रखी थी। इसे जानबूझकर शौचालय में रखवा दिया गया और इसका वीडियो बनवाकर जारी कर दिया गया। कुछ स्थानीय लोगों की मिली भगत से भी इंकार नहीं किया जा सकता।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker