Uttar Pradesh

बजरंगी भाईजान की मदद से वापस आए पिता-पुत्र वापसी

अंबेडकरनगर:

यूएई में धोखे से वीजा देकर कराई जा रही थी मजदूरी

परिजनों ने समाजसेवी सैयद आबिद हुसैन से लगाई थी गुहार

जिले के प्रमुख समाजसेवी तथा रियल लाइफ में बजरंगी भाईजान के नाम से चर्चित सैय्यद आबिद हुसैन की कड़ी मेहनत एक बार फिर फिर रंग लाई। इस बार उनके अथक प्रयास से जिले के पिता पुत्र की सकुशल वतन वापसी हो गई। परिवार में खुशी का माहौल छा गया है। वहीं परिजन आबिद की मुक्त कंठ से सराहना करते नहीं थक रहे हैं।

जिले के आलापुर तहसील क्षेत्र के सोहगूपुर निवासी पिता पुत्र बालेन्द्र चौहान और गोविन्द चौहान एक एजेंट के माध्यम से 8 अप्रैल 2021 को यूएई के रास अल खैमह से अजमान एवं शारजाह गए, लेकिन जो एजेंट द्वारा उन्हें वादा किया गया था वो नहीं दिया गया। इन्हें टाईल्स मिस्त्री के काम का वीजा बता कर अजमान में मजदूरी करवाई जा रही थी।

इन लोगों को समय से पैसे भी नहीं दिए जा रहे थे। ऐसे में यह बालेन्द्र चौहान और गोविन्द चौहान अपने आप को ठगा महसूस कर रहे थे। दोनों पिता पुत्र बहुत परेशान थे। परिवार के लोगों ने आलापुर तहसील से एलआईयू अधिकारी अजय सिंह से सम्पर्क किया। अजय सिंह ने जिले के रुद्रपुर भगाही समाज सेवी सैयद आबिद हुसैन का नम्बर दिया।

आबिद हुसैन से बात कर के बालेन्द्र चौहान और गोविन्द चौहान की पूरी डिटेल भेजी। आबिद हुसैन ने तत्काल मामले में भारत यूएई दूतावास और विदेश मंत्रालय को अवगत करवाया और बालेन्द्र चौहान और गोविन्द चौहान के नम्बर पर आबिद ने फोन करके बात की।

यह दोनों लोग बहुत डरे सहमे थे और आबिद से बात करते करते रोने लगे। आबिद ने इन्हें समझाया और ढांढस बधाया। आबिद के प्रयास से बालेन्द्र चौहान और गोविन्द चौहान 20 जनवरी को सकुशल भारत वापस आ गये।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker