Saturday, May 21, 2022
HomeUttar Pradeshजहां मर्जी वहां नमाज नहीं, लाउडस्पीकर उतरवाने के बाद ईद को लेकर...

जहां मर्जी वहां नमाज नहीं, लाउडस्पीकर उतरवाने के बाद ईद को लेकर योगी सरकार का नया आदेश

Lucknow : उत्‍तर प्रदेश में शुक्रवार को केंद्रीय सुरक्षा बलों की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच अलविदा की नमाज़ पहले से तय स्थानों पर होगी। किसी भी नए अथवा सार्वजनिक स्थान पर इसकी इजाजत नहीं दी जाएगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद सभी जिलों में सतर्कता बरतने के साथ पुलिस-प्रशासन को कड़े सुरक्षा इंतजाम करने को कहा गया है।

रमजान के महीने में शुक्रवार को प्रदेश में 31151 पहले से तय स्थानों पर अलविदा की नमाज अदा की जाएगी। इसके लिए कड़े सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं। नमाज के स्थानों तथा अन्य संवेदनशील स्थलों पर सुरक्षा-व्यवस्था बनाए रखने के लिए डीजीपी मुकुल गोयल की तरफ से 46 कंपनी पीएसी व सात कंपनी केंद्रीय सशस्त्रत्त् पुलिस बल की तैनाती की गई है।

2846 स्थान संवेदनशील: डीजीपी मुख्यालय के अनुसार शुक्रवार को 19949 मस्जिदों, 7436 ईदगाहों व 2846 अन्य स्थानों पर अलविदा की नमाज होनी है। इन 2846 स्थानों को संवेदनशील स्थल के रूप में चिह्नित किया गया है। इसके अलावा 2705 स्थानों को भी संवेदनशील माना गया है। इन सभी स्थानों पर कड़े सुरक्षा प्रबंध किए जाएंगे।
- Advertisement -

जिलों की पुलिस के अलावा 46 कंपनी पीएसी व सात कंपनी सीएपीएफ की तैनाती की गई है। मुरादाबाद व प्रयागराज में दो-दो पुलिस उपाधीक्षक भी भेजे गए हैं। इसके साथ ही 1492 पुलिस प्रशिक्षणार्थियों को भी सुरक्षा-व्यवस्था की ड्यूटी में लगाया जाएगा। सभी जोनल एडीजी व रेंज के आईजी-डीआईजी को जिलों के पुलिस कप्तानों के साथ समन्वय बनाकर हर तरह का सहयोग मुहैया कराने के निर्देश दिए गए हैं।

- Advertisement -

शासन ने धर्मस्थलों में नियमों के पालन की साप्ताहिक समीक्षा जिला स्तर पर करने तथा पहली अनुपालन रिपोर्ट 30 अप्रैल तक भेजने को कहा है। जिलों की रिपोर्ट मंडलायुक्तों और कमिश्नरेट की रिपोर्ट पुलिस आयुक्तों के माध्यम से शासन को भेजी जाएगी।

राज ठाकरे ने की योगी की तारीफ:

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के मुखिया राज ठाकरे ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ की है। उन्होंने कहा है कि मैं तहेदिल से योगी सरकार को शुभकामनाएं देता हूं और उनका आभारी हूं कि उन्होंने धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाने का फैसला किया। खासतौर पर मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाए गए। दुर्भाग्य है कि महाराष्ट्र में हमारे पास कोई योगी नहीं है। जो कुछ भी हमारे पास है, वह भोगी हैं। उन्होंने उम्मीद जताई है कि महाराष्ट्र में भी कुछ ऐसा ही भाव पैदा हो और किया जाए।

अब तक 21 हजार लाउडस्पीकर उतारे गए

लखनऊ। परस्पर संवाद और समन्वय से धर्मस्थलों से अवैध लाउडस्पीकर हटवाने के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर पुलिस प्रशासन ने संवाद का सिलसिला गुरुवार को भी कायम रखा। सभी जिलों में अब तक 29808 धर्मगुरुओं से वार्ता की गई है और 21963 लाउडस्पीकर हटाए गए हैं।

डीजीपी मुख्यालय के अनुसार अवैध लाउडस्पीकर हटवाने और अन्य लाउडस्पीकरों में तय मानक के अनुसार आवाज धीमी कराने के अभियान में अभी तक कहीं भी विरोध की स्थित नहीं पैदा हुई है। ज्यादातर स्थानों पर धर्मगुरुओं ने स्वेच्छा से अवैध लाउडस्पीकर हटवाए।

कानून-व्यवस्था बनाए रखने में धर्मगुरुओं का पूरा सहयोग मिल रहा है। शांतिपूर्ण माहौल में अलविदा की नमाज संपन्न कराने के लिए सभी जरूरी प्रबंध किए गए हैं।
प्रशांत कुमार, एडीजी

hind morcha news app

Most Popular