Uttar Pradesh

क्या e-SHRAM कार्ड धारकों के खाते में अब नहीं आएंगे पैसे? जानें सच्चाई

लखनऊ. योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi Adityanath) ने उत्तर प्रदेश के ई-श्रम कार्ड (e SHRAM Card) धारक श्रमिकों के बैंक खातों में 500 रुपये प्रति माह के हिसाब से मार्च तक 2000 रुपये डालने का एलान किया था.

इसके तहत राज्य के डेढ़ करोड़ श्रमिकों के खातों में दिसंबर-जनवरी का 1000 रुपये डाल भी दिए गए. हालांकि अब विधानसभा चुनाव की तारीखों (UP Election Dates) के ऐलान के साथ आदर्श आचार संहिता लागू हो चुकी है. ऐसे में सवाल उठ रहा है कि क्या इन श्रमिकों के खाते में फरवरी-मार्च के पांच-पांच सौ रुपये आएंगे?

दरअसल केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने 4 महीने ई-श्रम पोर्टल लॉन्च किया था. इसके बाद इस पोर्टल पर अब तक करीब 21 करोड़ श्रमिक रजिस्ट्रेशन करवा चुके हैं. इनमें से अकेले यूपी के ही 7.5 करोड़ श्रमिक शामिल हैं. योगी सरकार ने पिछले सोमवार को इन श्रमिकों के बैंक खातों में 1000-1000 रुपये डाले थे.किन्हें मिलता है ई-श्रम कार्ड का लाभ?

किसी भी दुकान पर काम करने वाले सेल्समैन या हेल्पर, घर में करने वाले नौकर-नौकरानी, होटल के वेटर/हेल्पर, नाई, मोची, दर्जी, बढ़ई, प्लंबर, इलेक्ट्रीशियन, पेंटर, टाइल्स वाला, वेल्डिंग वाला, रिक्शा चालक या ठेले पर कोई सामना बेचने वाला, मूर्ती बनाने वाले, नरेगा मज़दूर, ईंट भट्ठा मज़दूर, खदान मज़दूर, रेजा, कुली, मछुवारे, पशुपालक, चरवाहे, जोमैटो-स्विगी या अमेज़न-फ्लिपकार्ट जैसी कंपनियों के डिलीवरी बॉय, सफाई कर्मचारी, गार्ड, वाहन चालक, पंचर बनाने वाला, मंदिर के पुजारी, विभिन्न सरकारी ऑफिस के दैनिक वेतन भोगी जैसे कम आय वाले लोग ई-श्रम कार्ड बनवाकर सरकार की इस योजना का लाभ उठा सकते हैं.

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker