Uncategorized

आधी रात महिला टीचर के घर घुसे SDM, लोगों ने बाहर से जड़ दिया ताला; यूं मुंह छिपाकर भागे

पाली. राजस्थान के पाली जिले में तैनात एक एसडीएम को देर रात सरकारी टीचर के घर जाना भारी पड़ गया। देर रात अपनी कार से एसडीएम जैसे ही सरकारी टीचर के घर मे घुसे पड़ोसियों ने घर के बाहर ताला लगाकर दोनों को बंद कर दिया। इस बीच एसडीएम ने पुलिस को बुलाकर घर से मुंह छुपाकर निकल गए। लेकिन सरकार ने सरकारी टीचर व एसडीएम को निलंबित कर दिया। हालांकि एसडीएम अपने आप को बदमान करने की बात बता यह कह रहे थे कि वो तो उस रात सोजत में थे। लेकिन राज्य सरकार के निलंबन के बाद घटना पर मोहर लग गई

दरसअल पाली जिले के मारवाड़ जंक्शन में तैनात एसडीएम अजय अमरावत दो दिन पहले देर रात मारवाड़ जंक्शन के गुड़ा मोकम सिंह गांव में देर रात अपनी लाल पट्टी वाली कार में सवार होकर सरकारी स्कूल की प्रिंसिपल टीचर के घर पहुंचे थे। इस बीच आसपास के लोगो ने सरकारी स्कूल की प्रिंसिपल टीचर के घर के बाहर ताला लगाकर एसडीएम व टीचर को बंद कर दिया। साथ ही पूरा मोहल्ला टीचर के घर के बाहर बैठ गए।

रात से लेकर सुबह तक तो घर के बाहर ताला लगा होने का पता टीचर व एसडीएम को नही लगा। लेकिन सुबह होते ही घर पर ताला व आसपास के लोग घर के बाहर देखकर दोनों घबरा गए। उस दौरान प्रिंसिपल ने पुलिस की धमकी देकर ताला खुलवाकर खुद तो स्कूल निकल गई। लेकिन एसडीएम अजय अमरावत घर मे कैद हो गए। हालांकि दोपहर एक बजे एसडीएम ने पुलिस चौकी इंचार्ज को बुलाकर सिविल कार से निकल गए।

सोशल मीडिया में घटना वायरल होने पर दोनों निलंबित

सरकारी टीचर के घर एसडीएम के देर रात आने की घटना सोशल मीडिया में वायरल होते ही पहले सरकारी प्रिंसिपल को एपीओ किया गया। लेकिन कल देर रात राज्य सरकार ने एसडीएम व प्रिंसिपल टीचर को निलंबित कर दिया। राज्य सरकार ने एसडीएम अजय अमरावत को राजस्थान सिविल सेवा में आचरण का दोषी मानते हुए उनको निलंबित कर मुख्यालय शासन प्रमुख सचिव कार्मिक विभाग सचिवालय जयपुर कर दिया। वही प्रिंसिपल ॉको भी निलंबित कर दिया गया है।

एसडीएम अजय अमरावत पहले खुद को घटना स्थल पर होने से ही इनकार कर रहे थे। उन्होंने घटना वाली रात अपने आप को पाली जिले के सोजत में होना बताया था। लेकिन राज्य सरकार के सुरुआती जांच में दोषी पाए जाने के बाद उनका रात में प्रिंसिपल टीचर के घर आने की पुष्टि हो गई। राज्य सरकार ने एसडीएम को राजस्थान सिविल सेवा में आचरण का दोषी माना और उनको निलंबित कर दिया है।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker