Friday, January 28, 2022
HomePoliticsUP Assembly Elections Live Updates: जिसका मैं साथ छोड़ता हूं उसका कोई...

UP Assembly Elections Live Updates: जिसका मैं साथ छोड़ता हूं उसका कोई वजूद नहीं रहता, बहनजी इसका जीता जागता सबूत- मौर्य

Uttar Pradesh News Live, January 14, 2021: यूपी विधानसभा चुनाव ( UP Assembly Elections) से पहले शुक्रवार को स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami prasad maurya) ने समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) का दामन थामने से पहले बीजेपी पर जमकर हमला किया. स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि मकर संक्रांति पर भाजपा के अंत का इतिहास लिखने जा रहा है. बीजेपी के बड़े- बड़े नेता जो कुंभकरण नींद सो रहे थे आज हमलोग के इस्तीफा देने के बाद उनकी नींद हराम हो गई है.

उन्हें नींद ही नहीं आ रही है. मौर्य ने कहा कि अखिलेशजी पढ़े लिखे हैं नौजवान हैं और प्रदेश के लाखों लोगों का साथ उनके साथ मिलकर बीजेपी को निस्तनाबूत कर देंगे. उन्होंने आगे कहा कि जिसका मैं साथ छोड़ता हूं उसका कोई वजूद नहीं रहता. हमारी बहनजी इसका जीता जागता सबूत है, बहन जी ने कांशीराम जी का नारा बदल दिया मैंने उसकी विरोध किया लेकिन नहीं मानी और आज उनका कोई वजूद नहीं रहा.

- Advertisement -

बीजेपी के कुछ लोग कहते हैं कि पांच साल तक इस्तीफा क्यों नहीं दिया. कुछ कहते हैं बेटे के चक्कर में बीजेपी छोड़ी है. मैं बताना चाहता हूं कि बीजेपी ने गरीबों, पिछड़ों, दलितों और अल्पसंख्यकों की आंख में धूल झोंककर सत्ता हथियाई थी. सरकार बनाएं दलित और पिछड़े, मलाई खाएं अगड़े, पांच फीसदी लोग. स्वामी बोले कि 85 तो हमारा है, 15 में भी बंटवारा है.

- Advertisement -

उन्होंने कहा कि मैने सोचा था की इतने समय तक वनवास झेलने के बाद भाजपा अच्छा काम करेगी लेकिन भाजपा ने ऐसा नहीं किया. आज मैं बीजेपी से कहना चाहता हूं की आज जो ये कार्यक्रम हो रहा है इससे एक ऐसा तूफ़ान चलेगा जिससे भाजपा के परखच्चे उड़ जाएंगे. बता दें कि स्वामी प्रसाद मौर्य जिन्होंने पिछले दिनों बीजेपी छोड़ी थी वह समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए. उनके साथ धर्म सिंह सौनी और विधायकों ने भी सपा का दामन थामा.

सपा में शामिल हो रहे ये नेता

पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य
पूर्व मंत्री धर्म सिंह सैनी, भगवती सागर (बिल्हौर कानपुर से विधायक)
विनय शाक्य (एमएलसी बिधुना अरायये और पूर्व मंत्री)
रोशन लाल वर्मा (विधायक शाहजहांपुर)
डॉ मुकेश वर्मा (विधायक सिकोहाबाद, फिरोजाबाद)
बृजेश कुमार प्रजापति (विधायक बांदा)
अपना दल से चौधरी अमर सिंह (विधायक सिद्धार्थनगर)
अली यूसुफ (पूर्व विधायक, रामपुर)

राम भारती (पूर्व मंत्री, सीतापुर)
नीरज मौर्य (पूर्व विधायक शाहजहांपुर)
हरपाल सिंह
बलराम सैनी (पूर्व विधायक, मुरादाबाद)
राजेंद्र प्रसाद सिंह पटेल (पूर्व विधायक, मिर्जापुर)
विद्रोही धनपत मौर्य (पूर्व राज्य मंत्री)
ध्रुवराम चौधरी (पूर्व मंत्री)
पदम सिंह
अयोध्या प्रसाद पाल (पूर्व मंत्री)

बंसी सिंह पहलिया
अमर नाथ सिंह मौर्य
रामावतार सैनी
आरके मौर्य
दामोदर मौर्य

बलराम मौर्य
देवेश शाक्य
महेंद्र मौर्य
रजनीकांत मौर्य
राम लखन चौरसिया
देवेश श्रीवास्तव
चंद्र पाल सिंह सैनी

पहले हाथरस की सादाबाद विधानसभा सीट से बसपा विधायक रामवीर उपाध्याय ने शुक्रवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. बता दें कि रामवीर साल 2019 से निलंबित थे. 25 साल से बसपा में थे और पांच बार विधायक बने. वह बसपा सरकार में ऊर्जा एवं परिवहन मंत्री रह चुके हैं. रामवीर उपाध्याय के भाई तथा परिवार के अन्य सदस्य पहले से ही भाजपा में हैं.

सूत्र बताते है कि वह भी भाजपा का दामन थाम सकते हैं. आखिरी रामवीर उपाध्याय हमेशा से ही ब्राह्मण राजनीति का मजबूत चेहरा रहे हैं और उनकी इस खासियत की वजह से बसपा में तूती बोलती थी.

पूर्व ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय ने लिखा पत्र.
पूर्व ऊर्जा मंत्री रामवीर उपाध्याय ने लिखा पत्र.
सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (BJP) में विधायकों (MLA) के इस्तीफे का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. गुरुवार शाम को एक के बाद एक सात विधायकों ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया. इस क्रम में नए इस्तीफा देने वाले विधायकों में अपना दल के चौधरी अमर सिंह का नाम शामिल हुआ है. बता दें कि अपना दल यूपी में सत्ताधारी भाजपा की सहयोगी पार्टी है.

अमर सिंह सिद्धार्थ नगर जिले के शोहरतगढ़ निर्वाचन क्षेत्र से विधायक हैं. अपना दल के विधायक चौधरी अमर सिंह ने इस्तीफा देने के बाद कहा कि अभी और लोग पार्टी छोड़कर हमारे साथ आएंगे. चौधरी अमर सिंह सपा में शामिल होंगे. उन्होंने कहा, “मैंने अपना इस्तीफा दे दिया है; अखिलेश यादव से मुलाकात की और उनके साथ जुड़ूंगा.

बता दें कि योगी आदित्यनाथ कैबिनेट में शामिल तीन मंत्रियों समेत अब तक 12 विधायकों ने इस्तीफा दे चुके है. पूर्व मंत्री घर्म सिंह सैनी ने दावा करते हुए कहा कि शुक्रवार सुबह 11 बजे कई विधायक समाजवादी पार्टी में शामिल होंगे. उन्होंने कहा कि स्वामी प्रसाद मौर्य जो कहेंगे हम करेंगे. 20 जनवरी तक हर दिन एक मंत्री और 3-4 विधायक इस्तीफा देंगे.

hind morcha news app

Most Popular