Politics

35 ठिकानों पर IT रेड : पुष्पराज जैन के यहां मिले 20 करोड़ की फर्जी खरीद और निवेश के डॉक्यूमेंट्स

समाजवादी इत्र बनाने वाले सपा एमएलसी पुष्पराज जैन उर्फ पम्पी जैन के ठिकानों से आयकर विभाग को तीसरे दिन दस करोड़ रुपये की फर्जी खरीद और दस करोड़ की बोगस इंट्री के दस्तावेज मिले हैं, इनकी जांच की जा रही है। इससे पहले मिडिल ईस्ट से करीब 40 करोड़ रुपये के निवेश के कागजात पाए गए थे।

बड़ी संख्या में सीज कागजातों की जांच की जा रही है। आयकर विभाग ने पम्पी जैन और मलिक ग्रुप के कानपुर, कन्नौज, लखनऊ, दिल्ली, मुंबई और हाथरस के 35 परिसरों पर छापेमारी की थी। शनिवार तक कानपुर और लखनऊ सहित 15 परिसरों की जांच पूरी हो गई थी। रविवार को 8 और दफ्तर, गोदाम और कॉरपोरेट ऑफिसों की जांच हो गई। अभी भी 12 जगह छानबीन चल रही है।

आयकर विभाग के सूत्रों के मुताबिक पम्पी जैन के मुंबई स्थित घर से दो करोड़ रुपये पहले ही मिल गए थे। साथ ही मिडिल ईस्ट से लगभग 40 करोड़ के निवेश के प्रमाण मिले थे। इसके आगे की पड़ताल में खुलासा हुआ कि पम्पी जैन ने कोलकाता की बोगस कंपनियों के जरिए दस करोड़ रुपये की इंट्री ली। इन कंपनियों की पड़ताल में सभी फर्जी पाई गईं।

इसके अलावा 10 करोड़ रुपये की फर्जी खरीद-बिक्री के प्रमाण भी मिले हैं। यह भी पाया गया कि कागजों में कुल कारोबार में आधा मुनाफा और आधी बिक्री दिखाई जा रही थी। इसकी जांच में बिल ही बोगस मिले। कानपुर स्थित पम्पी जैन के बहनोई के दोनों घर सील हैं, अभी इनकी जांच नहीं की गई है। वहीं, मलिक ग्रुप के यहां साढ़े तीन करोड़ रुपये कैश मिलने के साथ तमाम कागजों और रजिस्टरों को सील किया गया है।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker