Saturday, May 21, 2022
HomePolitics....जब स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक अस्पताल का नजारा देखकर रह गए दंग!...

….जब स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक अस्पताल का नजारा देखकर रह गए दंग! देखिए एक्शन भरा VIDEO

सीतापुर. यूपी के सीतापुर और बाराबंकी जिले में उस समय अफरातफरी मच गई, जब लाइनिंग वाली शर्ट और काली पैंट पहनकर डिप्टी सीएम व स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक (Brijesh Pathak) औचक निरीक्षण करने सीएचसी पहुंचे. सीतापुर के महमूदाबाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचकर उन्होंने सबसे पहले उपस्थिति रजिस्टर मांगा. डिप्टी सीएम बृजेश पाठक को अपने सामने खड़ा देख स्वास्थ्य केंद्र मौजूद डॉक्टरों को पसीना आ गया. उधर, स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक का एक्शन भरा वीडियो सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है. सीतापुर के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का औचक निरीक्षण किया और इसके बाद वो बाराबंकी जिले के कुर्सी में स्थिति प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंच गए. जहां उन्हें देखते ही स्वास्थ्यकर्मियों के हाथ-पांव फूल गए.

https://www.facebook.com/watch/brajeshpathakup/

- Advertisement -

वहीं, उपस्थिति रजिस्टर में डॉक्टरों द्वारा लंबे समय से उपस्थिति दर्ज न करने को लेकर डिप्टी सीएम ने जमकर फटकार लगाई. रजिस्टर पर एक डॉक्टर के नाम के आगे CL लिखा होने पर मंत्री ने कलम के स्याही तक की पड़ताल करवाई.

- Advertisement -

https://fb.watch/czzwFB-IW9/

दोनों की स्याही एक जैसी होने पर डिप्टी सीएम ने स्वास्थ्य रक्षक को जमकर फटकार लगाई. साथ ही इमरजेंसी में लगे वॉटर कूलर में बिजली कनेक्शन ना कराए जाने को लेकर भी उन्होंने स्वास्थ्य अधीक्षक को फटकार लगाते हुए तत्काल दुरुस्त कराने का निर्देश दिया.

डॉक्टर व पैरामेडिकल स्टाफ गायब

जब बृजेश पाठक ऑपरेशन थिएटर में पहुंचने के बाद गंदगी देखी तो उनका पारा सातवें आसमान पर था. बड़े ही सख्त लहजे में उन्होंने सीएचसी अधीक्षक सहित सफाई कर्मियों को अपनी कार्यशैली में जल्द सुधार लाने के निर्देश दिए. इस दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए मंत्री ने बताया कि कुछ डॉक्टर व पैरामेडिकल स्टाफ अनुपस्थित मिला है. उनसे जवाब मांगा गया है. समुचित जवाब न मिलने पर कार्रवाई की जाएगी.

मरीजों को भगवान माने- स्वास्थ्य मंत्री

इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि कल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान सभी सीएमओ को कहा गया था कि वह कभी भी अस्पताल पहुंच सकते हैं. साथ ही अस्पताल में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें. मरीजों को भगवान माने. उन्हें परिवार के सदस्य की तरह ट्रीट करें, लेकिन यहां तो मरीज को कोई पूछने वाला भी नहीं है. आधे लोगों को तो आपने छुट्टी दे रखी है. तीमारदार की शिकायत पर उन्होंने सालों से खराब पड़ी एक्स-रे मशीन को लेकर भी खूब फटकार लगाई. डॉक्टर द्वारा खुद की पेन से सीएल लगाने की हरकत भी उन्होंने पकड़ ली. दरअसल जिले में सरकारी सेवाओं की हकीकत किसी से छिपी नहीं है. जिसकी जमीनी हकीकत स्वास्थ्य मंत्री खुद देख रहे हैं.

hind morcha news app

Most Popular