Maharajganj

“हिन्दी दिवस” पर नेहरू पी0जी0 कालेज में राष्ट्रभाषा हिन्दी चुनौतियां एवं अवसर विषय पर संगोष्ठी का आयोजन हुआ.

“हिन्दी दिवस” पर नेहरू पी0जी0 कालेज में राष्ट्रभाषा हिन्दी चुनौतियां एवं अवसर विषय पर संगोष्ठी का आयोजन हुआ.

हिन्दमोर्चा न्यूज़ महराजगंज सदर. 

  • राष्ट्रीय आकांक्षाओं की भाषा है हिन्दी-प्रो0 चितरंजन.
  • अंग्रेजी या अंग्रेजी पढ़ने वाला व्यक्ति हमसे श्रेष्ठ है यह हीनता हमारे विकास में बाधक है- प्रो0 दिग्विजय नाथ पान्डेय, 

महराजगंज: हिन्दी राष्ट्रीय आकांक्षाओं की भाषा है, राष्ट्रीय चेतना की भाषा है। स्वतंत्रता आन्दोलन एवं संस्कृत की भाषा है। आज भारत की सभी भाषाऐं राष्ट्रभाषाऐं है उनमें से हिन्दी भी एक है, क्योंकि कोई भी भाषा-समुदाय, भावनाओं और आवश्यकताओं की अभिव्यक्ति भाषा से ही होती है।

उक्त विचार जवाहर लाल नेहरू स्मारक पी0जी0 कालेज में हिन्दी दिवस पर आयोजित संगोष्ठी को सम्बोधित करते हुए दी0द0उ0 गोरखपुर विश्वविद्यालय, गोरखपुर के हिन्दी विभाग के पूर्व आचार्य/विभागाध्यक्ष प्रो0 चितरंजन मिश्र ने व्यक्त किया। प्रो0 मिश्र ने कहा कि हिन्दी को राष्ट्रीय जरूरत भाषा के रूप में विकसित करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि दुर्भाग्य यह है कि भाषा का सवाल राजनीति से शुरू होकर राजनीति का विषय बन गया है। कोई भी भाषा पूर्ण नहीं है जिससे सम्पूर्ण ज्ञान-विज्ञान परिलक्षित हो। आज हिंदी की स्वीकार्यता पूरे विश्व में जिस प्रकार बाजार सिनेमा और साहित्य के माध्यम से हो रहा है निश्चित रूप से इसके नए कलेवर के साथ जन जन तक पहुंच रही है किंतु अभी भी सरकारी कामकाज की भाषा नहीं बन पा रही है जिस दिन न्यायालय में सरकारी कार्यालयों में कार्य की भाषा बन जाएगी हिंदी की सहजता सुलभता स्वीकार्यता बढ़ जाएगी.

संगोष्ठी को सम्बोधित करते हुए प्राचार्य प्रो0 दिग्विजय नाथ पाण्डेय ने कहा कि हिन्दी हमारे राष्ट्रीय अस्मिता का प्रतीक है। अंग्रेजी या अंग्रेजी पढ़ने वाला व्यक्ति हमसे श्रेष्ठ है यह हीनता हमारे विकास में बाधक है। हिन्दी को गौरवपूर्ण भाषा बनाने के लिए हमें यह कार्य अपने घर से प्रारम्भ करना चाहिए।

अध्यक्षता करते हुए प्रबन्धक डाॅ0 बलराम भट्ट ने कहा कि हिन्दी को तकनीकी के अनूकूल नये-नये साफ्टवेयर विकसित किये जाने चाहिए जिससे बैंकों, न्यायालयों और कार्यालयों में कार्य सुगमता से सम्पादित हो सके। गोष्ठी के प्रारम्भ में हिन्दी विभागाध्यक्ष डाॅ0 राणा प्रताप तिवारी ने राष्ट्रभाषा हिन्दी चुनौतियां एवं अवसर विषय पर आयोजित इस संगोष्ठी का विषय प्रवर्तन हुए कहा कि हिंदी को राष्ट्रीय भाषा के रूप में स्थापित किया जाना एक चुनौती है । इस अवसर पर पतहर पत्रिका का विमोचन भी किया गयाlसंगोष्ठी का संचालन हिन्दी के असि0प्रो0 डाॅ0 विजय आनन्द मिश्र ने किया, प्रो0 मिश्र, प्रो0 पाण्डेय और डाॅ0 भट्ट को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। संगोष्ठी को पूर्व प्राचार्य प्रो0 उमेश प्रसाद यादव, डाॅ0 अजय कुमार मिश्र, मुख्य नियंता राहुल कुमार सिंह, दिवाकर सिंह ने सम्बोधित किया। इस दौरान डाॅ0 धर्मेन्द्र सोनकर, डाॅ0 अक्षय कुमार, डाॅ0 शैलेन्द्र उपाध्याय, गोपाल सिंह, छठ्टू यादव, डाॅ0 नन्दिता मिश्रा, डाॅ0 अशोक वर्मा, गुलाबचन्द्र, प्राची कुशवाहा, अपर्णा राठी, सुनील तिवारी, डाॅ0 ज्योत्सना पाण्डेय डाॅ0 शान्तिशरण मिश्र सहित शिक्षक एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

हिन्दमोर्चा टीम महराजगंज.

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker