Maharajganj

अस्पताल बना विवाद का अखाड़ा, बीसीपीएम और चीफ फार्मासिस्ट के बीच हुआ खींचातानी.

  • अस्पताल बना विवाद का अखाड़ा, बीसीपीएम और चीफ फार्मासिस्ट के बीच हुआ खींचातानी.
  • चीफ फार्मासिस्ट पर अभद्रता का आरोप, कार्रवाई की मांग को लेकर सौंपा ज्ञापन.
  • चीफ फार्मासिस्ट का विवादों से है पुराना नाता।

हिन्दमोर्चा न्यूज़ महराजगंज/
फरेंदा।

आपको बता दें कि
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनकटी के चीफ फार्मासिस्ट के विरुद्ध कार्रवाई की मांग को लेकर संयुक्त राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन कर्मचारी संघ के अध्यक्ष हरिशंकर त्रिपाठी के नेतृत्व में कर्मियों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा।अध्यक्ष ने कहा कि एएनएम एवं आशा संगिनी ने नौ जनवरी को ब्लाक सभागार फरेंदा में एक दिवसीय आयुष्मान गोल्डन कार्ड के कार्यशाला में प्रतिभाग किया। इसके बाद एएनएम की तरफ से परिवार नियोजन सामग्री की मांग की गई तो चीफ फार्मासिस्ट ने दो बजे स्टोर बंद होने का हवाला देकर वापस कर दिया। ब्लाक सामुदायिक प्रकिया प्रबंधक (बीसीपीएम) को यह जानकारी हुई तो उन्होंने अधीक्षक से दूरभाष पर वार्ता की। अधीक्षक से प्राप्त निर्देश के क्रम में बीसीपीएम ने जब चीफ फार्मासिस्ट के साथ समन्वय करने की कोशिश की तो चीफ फार्मासिस्ट ने अपशब्द कहते हुए स्टोर से बाहर भाग जाने एवं मारने-पीटने की धमकी दी, जिसके बाद बीसीपीएम वहां से बाहर निकल गए और परिवार नियोजन की सामग्रियों का वितरण करने लगें। कुछ समय उपरांत चीफ फार्मासिस्ट बीसीपीएम के पास पहुंच गए और कालर पकड़ कर पटक दिए और मार-पीट किए। घटना सीसी कैमरें में कैद हो गया। उपरोक्त मामलें को लेकर पीड़ित ने जिलाधिकारी तथा सीएमओ को ज्ञापन सौपा है, तथा संबंधित के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है.

विशेष रूप से रहें उपस्थित:

महामंत्री सुहेल खान, मुकेश त्रिपाठी, शिवेंद्र प्रताप श्रीवास्तव, संदीप पाठक, मुरारी प्रसाद, डा. एमक्यू लारी उपस्थित रहें।

हिन्दमोर्चा टीम महराजगंज.

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker