Lucknow

यूपी प्रदेश अध्यक्ष घोषित होने से पहले मुलाकातों का दौर जारी, अब जेपी नड्डा से मिले Deputy CM ब्रजेश पाठक

लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश भाजपा का नया अध्यक्ष घोषित होने से पहले मुलाकातों का दौर जारी है। आज दिल्ली में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने मुलाकात की। इस मुलाकात की तस्वीरें भी डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने ट्वीट की हैं।

उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की मुलाकात की तस्वीर ट्वीट करते हुए लिखा कि, ‘आज नई दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता व कुशल संगठनकर्ता, करोड़ों कार्यकर्ताओं के मार्गदर्शक, हमारे प्रेरणास्रोत माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से भेंटकर अमूल्य मार्गदर्शन व आशीर्वाद प्राप्त किया।

बता दें कि एक दिन पूर्व ही जेपी नड्डा से उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी मुलाकात की थी। इन दोनों मुलाकातों के पीछे की वजह है भाजपा के यूपी प्रदेश अध्यक्ष की खाली कुर्सी। जिस पर कुछ दिन पहले तक प्रदेश सरकार में मंत्री स्वतंत्र देव सिंह बैठा करते थे। स्वतंत्र देव के इस्तीफा देने के बाद से ही बीजेपी यूपी प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी खाली चल रही है। इस कुर्सी को भरने के लिए भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में पिछले कई महीनों से मंथन जारी है लेकिन कौन इस कुर्सी पर बैठेगा इस पर अभी कोई नाम नहीं तय हुआ है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के नए अध्यक्ष की घोषणा जल्द होने वाली है। जैसे जैसे दिन बीत रहे हैं, वैसे-वैसे नए प्रदेश अध्यक्ष को लेकर अटकलों का बाजार भी गर्म होता जा रहा है। यूपी में प्रदेश संगठन मंत्री रहे सुनील बंसल को संगठन ने नई जिम्मेदारी दी है। वहीं अब यूपी प्रदेश संगठन मंत्री की जिम्मेदारी धर्मपाल सिंह को दी गई है।

jagran

लोकसभा चुनाव में भाजपा ने कुल 80 में से 75 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है। इसके लिए रूपरेखा पहले ही तय हो चुकी है, लेकिन जमीनी स्तर पर इन्हें लागू कर मिशन-2024 में जुटने के लिए नए प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति का इंतजार है।

पिछले सप्ताह विधान परिषद नेता के पद से भी स्वतंत्रदेव सिंह को हटाकर उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को उच्च सदन की कमान सौंपी गई थी। इससे पिछड़े वर्ग के नेता केशव मौर्य का कद बढ़ाए जाने का भाजपा ने प्रदेश की जनता को स्पष्ट संदेश दिया है। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए पार्टी पिछड़े वर्ग के किसी नेता को चेहरा बना सकती है। बता दें कि भाजपा लोकसभा चुनाव 2024 को जीतने में कोई कसर बाकी नहीं रखना चाहती है।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker