Local

Video News : हजरत मोहम्मद साहब की बेटी हजरत फात्मा जहरा की शहादत में कई दिनों से जारी मातमी कार्यक्रमों का समापन

जलालपुर। पैगम्बर हजरत मोहम्मद साहब की इकलौती बेटी हजरत फात्मा जहरा की शहादत की याद में विगत कई दिनों से जारी मातमी कार्यक्रमों का समापन जनपद मुख्यालय अकबरपुर अंतर्गत ग्राम रामपुर मंगुराडिला में अजा-ए-फात्मिया में उलमाओं का जमावड़ा हुआ जहां दिल्ली से तशरीफ़ लाए विख्यात मौलाना सैय्यद नामदार अब्बास ने अपनी तकरीर में कहा कि पैगम्बर हजरत मोहम्मद साहब की इकलौती बेटी हजरत फात्मा जहरा आज की महिलाओं के लिए आदर्श हैं।

जो बेटी, पत्नी और मां के रुप में समाज में अपने किरदार को पेश कर दुनिया के लिए बेहतरीन मिसाल है। मौलाना ने बेटियों की शिक्षा पर जोर देते हुए अच्छे संस्कार के साथ हजरत फात्मा जहरा के किरदार को अपने जीवन में उतारने का आह्वान किया। मौलाना सैय्यद अजादार हुसैन दिल्ली ने अपने सम्बोधन में हजरत फात्मा जहरा की अज्मत के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला।

कार्यक्रम में मौलाना जैगम अब्बास, मौलाना अशफाक हुसैन, मौलाना रमज़ान अली, मौलाना मोहम्मद बाकर आदि ने इस्लामी शिक्षा पर अपने विचार व्यक्त किए। इससे पूर्व कार्यक्रम का आगाज जव्वार हुसैन मुस्तफाबादी व उनके हमनवां की मर्सिया ख्वानी के साथ हुआ। मुनव्वर जलालपुरी, ज़ुहैर सुल्तानपुरी,मीसम रामपूरी,रहबर सुल्तानपुरी आदि ने पेशख्वानी के फराएज अंजाम दिए।

सामईन द्वारा पूछे गए शरई मसायल पर मौलाना सैय्यद हैदर अब्बास रिज़वी ने उनकी जिज्ञासा को शांत किया। कार्यक्रम में आजमगढ़, लखनऊ,पशिच्मी बंगाल, इटावा समेत जनपद के लोग उपस्थित रहे।

कार्यक्रम का संचालन मौलाना सैय्यद नूरूल हसन व आरिफ अनवर ने संयुक्त रूप से किया। मोहम्मद हैदर, मोहम्मद मेहदी,शीबू रिज़वी,कल्बे हसन,सय्यद जाफर रजा, सय्यद मोहम्मद नसीम, इब्ने अली जाफरी आदि प्रमुख रूप से शामिल रहे। कार्यक्रम के आयोजक मोहम्मद शब्बर ने आगंतुकों का आभार व्यक्त किया।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker