Saturday, January 29, 2022
HomeLocalVIDEO: कहासुनी के बाद आपे से बाहर हुआ आबकारी विभाग का निलंबित...

VIDEO: कहासुनी के बाद आपे से बाहर हुआ आबकारी विभाग का निलंबित सिपाही, चार को मारी गोली

प्रयागराज. संगम नगरी प्रयागराज (Prayagraj) के कीडगंज इलाके में गुरुवार देर शाम आबकारी विभाग के निलंबित सिपाही ने चाट विक्रेता संदीप और उसके भाई को गोली मार दी. गोलीबारी (Firing) में दुकान पर मौजूद एक ग्राहक और एक छात्र को भी गोली लगी. 4 लोगों को गोली मारने वाला आरोपी कीडगंज के ही किराए के मकान में रहने वाला आबकारी विभाग का निलंबित सिपाही विमलेश पांडे है.

पुलिस ने पीड़ित के परिवार की तरफ से मिली तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर आरोपी की तलाश में जुट गई है. आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की 5 टीमें करछना थाना सहित कई जगहों पर दबिश दे रही है.

- Advertisement -

घटना से आक्रोशित लोगों ने आरोपी के घर में जमकर तोड़फोड़ भी की और जमकर नारेबाजी की. इसके साथ ही आरोपी जिस घर में किराए पर रहता था उस घर को आग के हवाले कर दिया. घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने लोगों को समझा-बुझाकर किसी तरीके से शांत कराया और घर में लगी आग को फायर ब्रिगेड कर्मियों की मदद से बुझाया गया.

- Advertisement -

घटना को लेकर इलाके में देर रात तक तनावपूर्ण माहौल भी बना रहा. जानकारी के मुताबिक आरोपी विमलेश पांडे का संदीप से पुराना विवाद है. पूर्व में विमलेश से घायल की कहासुनी हुई थी जिसको लेकर विमलेश अपने वर्दी का रौब दिखाता था. दोनों के बीच कई बार कहा सुनी और नोकझोंक हो चुकी है.

चाट विक्रेता और भाई की हालत नाजुक

गुरुवार की शाम भी दोनों में पहले कहासुनी हुई. इसी दौरान लाइसेंसी पिस्टल से बनारस में पोस्टेड विमलेश पांडे ने चाट विक्रेता संदीप गुप्ता और उसके भाई पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी. जिससे मौके पर मौजूद एक ग्राहक और एक राहगीर को भी गोली लगी है. चारों को घायल अवस्था में इलाज के लिए स्वरूप रानी अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

जिसमें चाट विक्रेता संदीप गुप्ता और उसके भाई की हालत बेहद नाजुक बनी हुई है. जबकि दो अन्य की हालत सामान्य बताई जा रही है. घटना की संवेदनशीलता को देखते हुए देर रात मौके पर आईजी राकेश सिंह सहित आला अधिकारी पहुंचे. उन्होंने पीड़ित परिजनों से घटना की जानकारी एकत्रित की और आरोपी की गिरफ्तारी के निर्देश दिए.

इसके साथ ही इस पूरे घटनाक्रम को लेकर तत्कालिक तौर पर कार्रवाई करते हुए आईजी राकेश सिंह ने चौकी इंचार्ज नाका समेत बीट के एक मुख्य आरक्षी तथा एक आरक्षी को निलंबित कर दिया. फिलहाल पुलिस आरोपी को गिरफ्तार कर इस पूरे घटनाक्रम की जल्द खुलासा करने की बात कह रही है.

hind morcha news app

Most Popular