LocalUttar Pradesh

पूर्वांचल के जनपद आजमगढ़ में फर्जी तरीके से नौकरी देने वाले दो अधिकारी सस्पेंड

  • पूर्वांचल के जनपद आजमगढ़ में फर्जी तरीके से नौकरी देने वाले दो अधिकारी सस्पेंड

लखनऊ। यूपी सरकार के आदेश पर मंगलवार को प्रमुख सचिव महिला एवं बाल विकास अनीता सी मेश्राम ने उपमुख्य परिवीक्षा अधिकारी मंडल आजमगढ़ ओंमकारनाथ यादव और प्रभारी जिला प्रोबेशन अधिकारी बच्चा लाल यादव को निलंबित कर दिया है।

दोनों अधिकारियों को मुख्यालय से संबंद्ध कर दिया गया। सीडीओ आनंद कुमार शुक्ला ने बताया कि उपमुख्य परिवीक्षा अधिकारी मंडल आजमगढ़ ओंमकारनाथ यादव और प्रभारी जिला प्रोबेशन अधिकारी बच्चा लाल यादव के खिलाफ शिकायत करने पर जांच की गई थी। जांच के दौरान पता चला कि ओंमकारनाथ यादव अपने कार्यालय में फर्जी तरीके से कर्मचारियों की नियुक्ति किया है। जिसमें से एक रिश्तेदार और दूसरा उनके गांव का रहने वाला है।

ओंमकारनाथ यादव अपने गांव के युवक को नियुक्त कर अपनी गाड़ी चलवाते थे। उसकी तनख्वाह स्वयं रख लिया करते थे। इसके अलावा जिला प्रोबेशन अधिकारी बच्चालाल यादव ने पद का दुरुपयोग करते हुए अपने भतीजे को ही अपने आफिस में नियुक्त कर दिया। इसके अलावा बच्चालाल ने साल 2019 से रानी लक्ष्मीबाई महिला एवं बाल सम्मान कोष योजना के तहत पात्रों को लाभ नहीं दिए, बल्कि दबाकर बैठे हुए थे।

आरोप है कि मनचाहा लोगों को ही इसका लाभ दे रहे थे। सीडीओ के मुताबिक जांच के दौरान पता चला कि इन दोनों अधिकारियों ने नियुक्तियां साल 2021 में ही की हैं। जांच में फर्जीवाड़ा उजागर होने पर सीडीओ ने डीएम को रिपोर्ट सौंपी। जिसके आधार पर 25 नवंबर 2021 को डीएम की तरफ से इन अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए शासन को रिपोर्ट भेजी गई थी।

जिसे संज्ञान में लेते हुए प्रमुख सचिव महिला एंव बाल विकास अनीता सी मेश्राम ने इन दोनों अधिकारियों को निलंबित कर दिया। साथ ही इन दोनों अधिकारियों को मुख्यालय से संबद्ध कर दिया गया है।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker