LocalPolitics

आखिर ! कटेहरी विधानसभा क्षेत्र से प्रत्याशी उतारने में मायावी के जाल में क्यों उलझी है भाजपा, क्षेत्रवासियों के स्वर मुखर

  • सोशल मीडिया पर वायरल एक सूची को लेकर चर्चा जोरों पर

अंबेडकर नगर। विधानसभा चुनाव को लेकर कटेहरी क्षेत्र से सपा,बसपा व कांग्रेस ने अपने प्रत्याशी घोषित कर दिया है किंतु अभी तक भाजपा ने अपना पत्ता नहीं खोला है। इसी दौरान सोशल मीडिया पर एक सूची तेजी से वायरल होने लगी जिसे देखते ही लोगों की प्रतिक्रिया शुरू हो गई और यह कहने को मजबूर हो गए कि आख़िर विधानसभा 2017 का चुनाव और अपने बूथ कोना जीत पाने वाले पर बीजेपी नेतृत्व क्यों मेहरबान है उसके माया जाल से नहीं उबर पा रहा है।

ज्ञात हो कि विधानसभा 2017 के चुनाव में भाजपा को कटेहरी विधानसभा क्षेत्र से बसपा प्रत्याशी से पराजय का सामना करना पड़ा था. इधर 2022 का चुनाव आ गया जिसमें भाजपा ने टिकट देने के पहले यह तय कर लिया और उसके मीडिया में बयान भी आए की हार का स्वाद चखने वालों को इस बार अवसर नहीं मिलेगा।

इस विधानसभा से भाजपा छोड़ लगभग सभी दलों ने अपने प्रत्याशी मैदान में उतार दिया है और उनके प्रचार भी जारी हैं। भाजपा से टिकट चाहने वाले लखनऊ से लेकर दिल्ली व संघ में अपनी पैठ बना रहे हैं और उनके द्वारा समर्थकों में बताया जा रहा है बस सब कुछ हो गया है घोषणा होना बाकी है। इसी बीच सोशल मीडिया पर एक सूची वायरल होने लगी जो भाजपा समर्थित निषाद पार्टी की है जिसने 2017 के चुनाव में हार का स्वाद चखने वाले का नाम शामिल है।

जिसे देखते ही क्षेत्रवासियों के स्वर मुखर होने लगे कि लगता है भाजपा जीती सीट हारने जा रही है। मायावी के जाल से आखिर नेतृत्व क्यों नहीं उतर पा रहा है। लोगों का कहना है कि जिस तरह से कटेहरी विधानसभा क्षेत्र से दलों के प्रत्याशी अभी तक मैदान में हैं ऐसी दशा में काश पूर्व कैबिनेट मंत्री धर्मराज निषाद प्रत्याशी घोषित होते, नहीं तो उक्त मायाबी जीती सीट को षड्यंत्र के तहत सपा को विजय दिला देगा।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker