Health

Immune system boosters: खाने में शामिल करें ये 15 चीजें, बीमारी रहेगी आपसे कोसों दूर

खट्टे फल – Citrus fruits

से ज्यादातर लोग जुकाम होते ही विटामिनसी का सेवन करने लगते हैं, ऐसा इसलिए क्योंकि विटामिन सी हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत करता है. माना जाता है कि विटामिन सी के सेवन से व्हाइट ब्लड सेल का निर्माण तेजी से होता है और यह व्हाइट ब्लड सेल संक्रमणों से लड़ते हैं. ज्यादातर खट्टे फलों में विटामिनसी प्रचुर

लाल शिमला मिर्च – Red bell peppers

ऐसा भी नहीं है कि खट्टे फलों में ही सबसे ज्यादा विटामिन सी होता है, अगर आप ऐसा सोचते हैं तो आपको फिर से इस पर विचार करना चाहिए. लाल शिमला मिर्च में संतरे से ढाई गुना तक विटामिन सी होता है. इनमें बीटा कैरोटीन भी प्रचुर मात्रा में होता है. इम्यूनिटी बढ़ाने के साथ ही विटामिनसी त्वचा के स्वास्थ्य के लिए भी बहुत उपयोगी होता है. बीटा कैरोटिन को आपका शरीर विटामिन ए में बदलता है जो आपकी आंखों के स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा होता है.मात्रा में होता है

पालक – Spinach

में विटामिनसी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, साथ ही इसमें कई तरह से एंटीऑक्सीडेंट्स और बीटा कैरोटीन भी पाए जाते हैं जो रोगों से लड़ने के लिए इम्यून सिस्टम को मजबूती देते हैं. ब्रोकली की ही तरह पालक को भी जितना कम पकाया जाए, यह उतना ही ज्यादा स्वास्थ्यवर्धक होती है. हालांकि, हल्का पकाने पर यह विटामिन ए को अच्छे तरह से एब्जॉर्ब करने में मददगार साबित हो सकती है

हल्दी – Turmeric

हल्दी का उपयोग कौन नहीं जानता और हमारे ज्यादातर व्यंजनों में इसका इस्तेमाल होता है. हल्दी का सदियों से सूजन रोधी उत्पाद के रूप में इस्तेमाल हो रहा है. इसे ऑस्टियोआर्थराइटिस रियूमेटोइड आर्थराइटिस के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है. रिसर्च में पता चला है कि हल्दी में मौजूद करक्यूमिन व्यायाम के दौरान मांसपेशियों को हुए नुकसान की भरपाई कर देता है. करक्यूमिन इम्यून बूस्टर होने के साथ ही एंटीवायरल भी होता है.

अदरक – Ginger

छोटीमोटी बीमारियों में आराम पाने के लिए हम सभी के घरों में घरेलू इलाज के तौर पर अदरक का इस्तेमाल किया जाता है. अदरक का सेवन सूजन कम करने में मददगार होता है, यह गले में खराश और सूजन संबंधी बीमारियां में आराम देता है. मतली में भी अदरक का सेवन लाभदायक हो सकता है. अदरक का इस्तेमाल कई मीठे व्यंजनों में भी होता है और पुराने दर्द में भी राहत दिलाता है.

ब्रोकली – Broccoli

ब्रोकली विटामिन और मिनरल्स का खजाना है. ब्रोकली में विटामिन ए, सी और ई के साथ ही फाइबर भी प्रचुर मात्रा में होता है. इसके अलावा इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स भी होते हैं, यही कारण है कि ब्रोकली को सबसे हेल्दी सब्जियों में से एक माना जाता है. ब्रोकली का सेवन करना चाहते हैं तो ध्यान रहे कि इसे कम से कम पकाना चाहिए. अच्छा तो यह होगा कि ब्रोकली को कच्चा ही खाया जाए. अगर स्टीम करके खाते हैं तो ब्रोकली के सभी पोषक तत्व बने रहते हैं.

ग्रीन टी – Green tea

ग्रीन टी और आम काली चाय में फ्लेवनॉइड होते हैं जो एक तरह के एंटीऑक्सीडेंट हैं. ग्रीन टी में एपीगैलोकेटेचिन गैलेट EGCG भी होता है, जो बहुत ही शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है. शोधो में पाया गया है कि EGCG इम्यूनिटी बढ़ाने में मददगार होता है. जबकि काली चाय में फर्मेंटेशन प्रोसेस के दौरान बहुत सा EGCG नष्ट हो जाता है. ग्रीन में LTheanine नाम का एमीनो एसिड भी अच्छी मात्रा में होता है जो आपके टीसेल्स को जर्म्स से लड़ने की शक्ति देता है

कीवी – Kiwi

पपीते की तरह कीवी में भी फोलेट, पोटेशियम, विटामिनके और विटामिनसी जैसे बहुत से जरूरी पोषक तत्व होते हैं. विटामिनसी व्हाइट ब्लड सेल का निर्माण करता है और इससे संक्रमण से लड़ने में मदद मिलती है. कीवी के अन्य पोषक तत्व शरीर की अन्य गतिविधियों को दुरुस्त रखती हैं

लहसुन – Garlic

लहसुन दुनियाभर के व्यंजनों में इस्तेमाल होता है. यह खाने में स्वाद तो बढ़ाता ही है, साथ यह आपके स्वास्थ्य के लिए भी बहुत उपयोगी साबित होता है. इंसान ने शुरुआती दौर में ही लहसुन की संक्रमणों से लड़ने की शक्ति को पहचान लिया था. लहसुन इंसान की नसों की कड़ा होने की रफ्तार को धीमा करता है और यह ब्लड प्रेशर को कम करने में भी मददगार साबित होता है. लहसुन में एलिसिलिन जैसे सल्फर कंपाउंड इम्यूनिटी बढ़ाने में मददगार होता है

सूरजमुखी के बीज – Sunflower seeds

सूरजमुखी के बीजों में पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं. इसके अलावा सूरजमुखी के बीजों में फॉस्फोरस, मैग्नीशियम और विटामिन बी6 व ई प्रचुर मात्रा में होते हैं. विटामिनई इम्यूनिटी सिस्टम को बेहतर बनाने में उपयोगी साबित होता है. अवोकाडो और गहरे हरे रंग की पत्तेदार सब्जियों में भी विटामिनई की बहुत अच्छी मात्रा पाई जाती है. सूरजमुखी के बीजों में सेलेनियम की भी अच्छी मात्रा होती है. जानवरों पर किए गए शोध में पता चला है कि सेलेनियम स्वाइन फ्लू H1N1 जैसे संक्रमणों से लड़ने में भी मददगार होता है

बादाम – Almonds

जब बाद सर्दीजुकाम से लड़ने की आती है तो विटामिनसी को हर कोई तवज्जो देता है, लेकिन विटामिनई का ध्यान किसी को नहीं आता. हालांकि, यह शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट हेल्दी इम्यून सिस्टम के लिए बहुत उपयोगी है. विटामिन ई को शरीर में एब्जॉर्ब होने के लिए फैट की आवश्यकता होती है. बादाम जैसे मेवों में विटामिन के साथ ही हेल्दी फैट भी होते हैं. एक स्वस्थ वयस्क व्यक्ति को प्रतिदिन 15 ग्राम विटामिन ई की आवश्यकता होती है और आधे कम बादाम यानी करीब 46 बादाम आपकी इस जरूरत को पूरा कर सकते हैं

दही – Yogurt

आपको ऐसे योगर्ट को अपने खाने में शामिल करना चाहिए, जिसके लेबल पर लाइव एंड एक्टिव कल्चर्स लिखा हो. इसमें ग्रीक योगर्ट भी शामिल है. यह कल्चर आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत करके रोगों से लड़ने में मददगार साबित होते हैं. योगर्ट का सेवन कर रहे हैं तो प्लेन योगर्ट का ही सेवन करें, न कि फ्लेवर और मीठे योगर्ट का. आप चाहें तो मीठे फलों या शहद की मदद से योगर्ट को सेहतमंद मिठास दे सकते हैं. योगर्ट विटामिन डी का भी अच्छा स्रोत है.

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker