Gorakhpur

Gorakhpur News: झोलाछाप की लापरवाही से गई बालक की जान, दर्ज हुआ मुकदमा

गोरखपुर जिले के खजनी थाना क्षेत्र के कंदराई में झोलाछाप डॉक्टर की लापरवाही से सोमवार को एक बालक की जान चली गई। बालक के स्वजन की तहरीर पर खजनी पुलिस ने झोलाछाप के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है। आरोपित झोलाछाप विजय पासवान महराजगंज जिले के सिसवा का रहने वाला है।

यह है मामला

कंदराई निवासी लालचंद यादव का 12 वर्षीय पुत्र प्रिंस यादव पांचवी का छात्र था। आठ दिन से उसके दाहिने पैर के अंगूठे में नाखून धंस रहा था। वह गांव में ही झोलाछाप विजय पासवान से अपना इलाज करवा रहा था। विजय पासवान तीन माह से गांव के ही कंता गुप्ता के मकान में किराये पर कमरा लेकर अपनी प्रैक्टिस कर रहा था। प्रिंस की मां सोमवार की शाम को विजय से अपने बेटे के पैर पर बैंडेज लगवाने गई थी।

इंजेक्शन देने के बाद बालक की बिगड़ी तबियत

प्रिंस की मां पूनम ने बताया कि विजय ने उसके बेटे के पैर की पट्टी खोली और उसे दो इंजेक्शन दे दिया। इंजेक्शन लगने के बाद प्रिंस की तबीयत और खराब हो गई। उसके मुंह से झाग आने लगा। झोलाछाप ने बताया कि उसके बेटे की तबीयत ठीक नहीं है। उसके इलाज के लिए और रुपयों की जरूरत होगी। वह घर रुपये लाने गई। उसके जाते झोलाछाप प्रिंस को लेकर जिला अस्पताल पहुंच गया। इस दौरान वहां पूनम अपने जेठ के लड़के साथ पहुंच गई। उन्हें देखकर विजय चकमा देकर वहां से भाग निकला। जिला अस्पताल के चिकित्सकों ने प्रिंस को मृत घोषित कर दिया। मंगलवार को प्रिंस के बड़े पिता हरिश्चंद्र की तहरीर पर खजनी पुलिस झोलाछाप विजय के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करके उसकी तलाश में जुटी है।

आठ दिन पूर्व ही घर से कमाने के लिए निकले हैं लालचंद

लालचंद बंगलौर में मजदूरी करते हैं। वह आठ दिन पूर्व ही स्वजन को घर छोड़कर काम करने के लिए बंगलौर गए हैं। बेटे की मौत खबर सुनकर उनकी आवाज ही थम गई। वह वहां से घर के लिए रवाना हो गए हैं।

क्या कहती है पुलिस

महुआडाबर चौकी प्रभारी जीतेश श्रीवास्तव ने बताया कि आरोपित विजय पासवान के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। उसकी तलाश की जा रही है। जल्द ही उसे गिरफ्तार करके जेल भेजा जाएगा।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker