Crime

UP-रूह कंपा देने वाली दरिंदगी की दास्तां: प्रेमी ने कामोत्तेजक दवा की तीन गोली खाकर प्रेमिका से बनाए संबंध, घर में निर्वस्त्र मिला था शव

उन्नाव। सदर कोतवाली क्षेत्र में घर के अंदर निर्वस्त्र हालत में मृत मिली युवती के पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हैवानियत का आधा सच सामने आने के बाद पुलिस ने जब आरोपित प्रेमी को गिरफ्तार किया तो रुह कंपा देने वाली दरिंदगी की दास्तां सामने आई। इंटरनेट मीडिया पर वाट्सएप पर शुरू हुई इस प्रेम कहानी ने हैवानियत की सारी हदें पार कर दीं। युवती के अंतिम संस्कार पर लोगों की आंखें आंसुओं से भरी और गुस्से से लाल नजर आईं।

घर पर निर्वस्त्र मिला था युवती का शव

सदर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में रहने वाले शिक्षामित्र और आशा संगिनी पत्नी की 19 वर्षीय बड़ी बेटी बीएससी सेंकेंड ईयर की स्टूडेंट थी। छोटी बेटी व बेटा नगर के प्राइवेट स्कूल में पढ़ते हैं। बीते गुरुवार को मां और पिता नौकरी पर चले गए और छोटे भाई-बहन स्कूल गए थे। दोपहर में करीब तीन बजे दोनों घर लौटे तो बरामदे में बड़ी बहन का खून से लथपथ निर्वस्त्र शव पड़ा देखकर चीख पड़े थे। घर में खून की छींटे रसोई घर व आंगन से लेकर तख्त, उसके नीचे फर्श और बिस्तर पर मिली थीं। एसपी ने घटनास्थल पर पहुंचकर जांच शुरू कराई थी। लोगों ने दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका जताई थी।

पोस्टमार्टम ने बयां की दरिंदगी की दास्तां, फटी मिली थी बच्चादानी

वीडियोग्राफी के बीच युवती के शव का तीन डाक्टरों के पैनल ने पोस्टमार्टम किया तो उससे हुई हैवानियत देखकर हैरान रह गए। उसके नाजुक अंग में गहरी चोट मिली। ढाई सेंटीमीटर का घाव था और उसकी बच्चादानी तक फट गई थी। डॉक्टरों ने अधिक खून बहने व सदमा लगने से युवती की मौत की पुष्टि की थी। बच्चेदानी, नाखून समेत अन्य अंग सुरक्षित करके जांच के लिए विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजे गए।

घरवालों ने जताया था पड़ोसी पर शक

पुलिस ने घरवालों और ग्रामीणों का गुस्सा देखते हुए आनन फानन मुकदमा दर्ज करके पड़ोसी युवक को गिरफ्तार करके पूछताछ शुरू की थी। उसने किसी भी तरह के संबंध न होने और कोई गुनाह न करने की बात कही थी। हालांकि पुलिस को भी उसपर ज्यादा संदेह नहीं था और युवती के मोबाइल फोन की जांच में जुटी थी। दो दिन तक पुलिस उसके मोबाइल फोन और टैब में लगे पासवर्ड को नहीं खोल सकी। जांच में सामने आया कि युवती यूपीएससी की तैयारी कर रही थी और हाल ही में कोचिंग भी शुरू की थी। इस बीच मोबाइल फोन का पासवर्ड खुलने के बाद पुलिस को सुराग मिल गया।

हास्टल में रहने वाले युवक को उठाया तो खुला राज

पुलिस ने सदर क्षेत्र के एक हास्टल में रहकर बीएड करने के बाद एमए की पढ़ाई कर रहे युवक और उसके दोस्तों को उठाया तो काफी अहम जानकारियां मिलीं। युवती की शरीर पर गर्दन के नीचे मेहंदी से उसका नाम भी लिखा मिला था। माखी का रहने वाले युवक ने बताया कि इंटरनेट मीडिया के सोशल प्लेटफार्म पर युवती से दोस्ती हुई थी। इसके बाद वाट्सएप चैटिंग से प्रेम प्रसंग शुरू हो गया और फिर एक दूसरे से चोरी-छिपे मिलने लगे। पुलिस को युवती के मोबाइल कॉल डिटेल और वाट्सएप पर युवक से चैटिंग के सुबूत मिले। युवक ने पुलिस के सामने पूरा घटनाक्रम कबूल दिया।

युवती के बुलाने पर गया था घर और बनाए शारीरिक संबंध

युवक ने पुलिस को बताया कि 10 नवंबर की सुबह युवती के बुलाने पर 10-11 बजे के बीच हास्टल से दोस्तों के साथ निकला था। थोड़ी दूर जाकर दोस्त अपने आपने काम से चले गए थे और वह युवती के घर पहुंच गया था। घर पर अकेला देखकर उसने प्रेमिका से शारीरिक संबंध बनाये। इससे प्रेमिका को अचानक तेज रक्तस्राव शुरू हो गया। इससे वह और प्रेमिका घबरा गई, उसने एक परिचित झोलाछाप को फोन करके उपाय पूछा। पूरा मामला जानने के बाद उसने फोन काट दिया। प्रेमिका की ब्लीडिंग रोकने के लिए काफी प्रयास किए लेकिन खून का बहना रुका नहीं। इस बीच प्रेमिका बेहोश हो गई तो वह दहशत में घर से भाग निकला।

कामोत्तेजक दवा की तीन गाेलियां खाकर पहुंचा था प्रेमिका के घर

पुलिस की पूछताछ में आरोपित एमए के छात्र ने बताया कि वह नशीली गोलियों का सेवन भी करता है। गुरुवार को जब वह प्रेमिका से मिलने उसके घर जा रहा था तो पहले उसने कामोत्तेजक दवा की तीन गोलियों का सेवन किया था। इसके बाद घर जाकर प्रेमिका से शरीरिक संबंध बनाए थे। प्रेमिका के रक्तस्राव को रोकने के लिए बहुत उपाय किए, जिससे नाजुक अंग में चोट आ गई। आरोपित छात्र ने कहा कि उसने हत्या नहीं की है। सदर कोतवाल राजेश पाठक ने बताया कि मुख्य आरोपित छात्र को गिरफ्तार कर लिया गया है, जल्द घटना का राजफाश किया जाएगा।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker