Crime

शौच के लिए गई लड़की को पुलिसकर्मियों ने पीटा, गुस्से में ग्रामीणों ने पुलिस पर फेंके पत्थर; बचाव में भांजी लाठियां

धनबाद के गौशाला ओपी अंतर्गत सेल के टासरा प्रोजेक्ट स्थित तालाब के समीप रविवार की सुबह शौच के लिए गई एक लड़की की पिटाई पुलिसकर्मियों ने कर दी। इसके बाद ग्रामीणों का आक्रोश भड़क गया। ग्रामीणों ने पुलिस के खिलाफ आक्रोश व्यक्त किया। ग्रामीणों ने एकत्र होकर टासरा प्रोजेक्ट के समीप युवती के साथ गाली-गलौज और पिटाई करने का आरोप लगाते हुए पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगे।

हालांकि पुलिस का आरोप है कि पुलिस कोयला चोरी रोकने गई थी। ग्रामीणों ने पुलिस कार्रवाई का विरोध किया। इस दौरान ग्रामीणों की पुलिस के साथ झड़प हो गई। मामला बिगड़ा और कहासुनी के बीच पत्थरबाजी होने लगी। लोगों का गुस्सा देख पुलिस ने लाठियां भी भांजी। इस दौरान भगदड़ मच गई थी। पुलिस की बर्बरता देख ग्रामीणों को वहां से भागना पड़ा।

पीड़ित लड़की ने आरोप लगाया कि वह सुबह-सुबह तालाब के किनारे शौच के लिए आई थी। अचानक पुलिस वाहन से वहां पहुंचा। चालक और अन्य दो पुलिसकर्मियों ने बिना कुछ पूछे उस पर लाठी चला दी। उसकी पिटाई करते हुए पूछा कि यहां क्यों आई हो। पीड़िता ने शौच के लिए आने की बात कही। वाहन चालक ने पूछा क्या घर में शौचालय नहीं है। नहीं कहने पर उसे पीटा। वहीं पास खड़े गांव में मेहमान बनकर आए दूसरे व्यक्ति की भी पिटाई हो गई। इस घटना के बाद काफी संख्या में लोग जमा होकर विरोध करने लगे।हालांकि इस संबंध में पुलिस के खिलाफ किसी ने शिकायत नहीं की है।

ओपी प्रभारी ने पिटाई के आरोप से किया इनकार

गौशाला ओपी प्रभारी विकास कुमार महतो ने पिटाई के आरोप को झूठ बताया और कहा कि गुप्त सूचना मिली थी कि टासरा प्रोजेक्ट से कोयला चोरी कर एक स्थान पर इकह्वा किया गया है। पुलिस कोयला को जब्त करने गई थी। पुलिस को देख कर ज्यादातर लोग भाग निकले। परंतु कुछ लोग पुलिस बल पर पथराव करने लगे। जिसके कारण पुलिस को लाठी चलानी पड़ी। जिसके कारण एक दो-लोग चोटिल हुए।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker