Business

बैंक ने गलती से 75 हजार लोगों के खाते में भेज दिए 1300 करोड़, अब वापस नहीं कर रहे लोग

Santander Bank Blunder: यदि आपके बैंक खाते में अचानक से लाखों रुपये आ जाएं, तो आपकी खुशी का कोई ठिकाना नहीं रहेगा. कुछ ऐसा ही हुआ इंग्लैंड में. यहां के 75 हजार लोगों के खाते में 1300 करोड़ रुपये अचानक से आ गए.

इसके बाद इन लोगों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा. हालांकि बाद में उन्हें पता चला कि यह बैंक की गलती की वजह से हुआ, लेकिन अब इनमें से ज्यादातर लोग बैंक को पैसे वापस नहीं करना चाहते हैं.

लोगों के खातों में भेज दिए 1300 करोड़ रुपये

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इंग्लैंड के Santander बैंक ने क्रिसमस के दिन एक बड़ी गलती कर डाली. बैंक ने अपने ग्राहकों के 2000 खातों में से 1300 करोड़ रुपये अलग-अलग बैंकों के 75 हजार लोगों के अकाउंट में ट्रांसफर कर दिए. हालांकि जब बैंक को अपनी गलती का अहसास हुआ तो वह इन पैसों को वापस मांग रहा है, लेकिन अब कई खाताधारक पैसे वापस करने को तैयार नहीं हैं.

Santander बैंक की तरफ से यह गड़बड़ 25 दिसंबर को हुई. सबसे ज्यादा चौंकाने वाली बात यह है कि बैंक ने 1300 करोड़ रुपये Barclays, NatWest, HSBC, Co-operative Bank और Virgin Money जैसे अपने प्रतिद्वंदी बैंकों के खाताधारकों के अकाउंट में भेज दिए. अब जबकि कई लोग पैसे वापस नहीं करना चाह रहे हैं तो Santander बैंक को डर सता रहा है कि उसके पैसे वापस कैसे मिलेंगे.

सख्त कदम उठाने की सोच रहा बैंक

Santander बैंक अब पैसे की वापसी के लिए सख्त कदम उठाने के बारे में सोच रहा है. इस समय बैंक के पास दो रास्ते हैं. बैंक या तो ग्राहकों को डर दिखाकर जबरन पैसे वसूले, या फिर वह लोगों के पास जा-जाकर प्यार से पैसे मांगे. बता दें कि ब्रिटेन में एक कानून है, जिसके मुताबिक बैंक गलती से भेजा पैसा ग्राहकों से वापस ले सकता है.

अगर ग्राहक पैसा लौटाने से मना करते हैं तो बैंक उनके खिलाफ केस कर सकता है, जिसके बाद दोषी ग्राहक को 10 साल की जेल की सजा हो सकती है. बता दें कि अमेरिका का सिटी बैंक इससे पहले ऐसी ही एक गलती कर चुका है.

उसने एक बार गलती से कॉस्मेटिक कंपनी Revlon के लेंडर्स को 90 करोड़ डॉलर ट्रांसफर कर दिया था. इसके बाद बैंक अपने 50 करोड़ डॉलर वसूल नहीं पाया था. पैसे वसूली के लिए बैंक ने अदालत का दरवाजा भी खटखटाया था. हालांकि अमेरिका की अदालत ने बैंक को इसकी रिकवरी की अनुमति नहीं दी थी.

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker