Bihar

घर के सामने सड़क बनाने आए मजदूर को दिल दे बैठी महिला, पति को कहा – बाय, फ‍िर हो गया तीसरा कांड

नवगछिया (भागलपुर)। भागलपुर के नगवछिया इलाके ढोलबज्जा थानाक्षेत्र के ढोलबज्जा बाजार में प्रेमी का प्यार पाने के लिए उसके घर के सामने एक नवविवाहिता ने धरना दिया। वह महिला प्रेमी संतोष भगत के दरवाजे पर बैठी रही, जो कि तीन बच्चों का पिता है। महिला कदवा ओपी क्षेत्र के कसिमपुर कदवा निवासी जमील सिंह की पुत्री कंचन कुमारी है।

पूर्व पेटी कोटेंक्टर अशोक जायसवाल

बताया गया कि ढाई वर्ष पूर्व पेटी कोटेंक्टर अशोक जायसवाल कासिमपुर कदवा में सड़क निर्माण करवा रहा था। अशोक जायसवाल के मुंशी के रूप में संतोष भगत काम करवा रहे थे। सड़क लड़की के घर के पास बन रही थी। इसी दौरान संतोष भगत का कंचन कुमारी से आंखें चार हो गईं। दोनों मोबाइल पर घंटों बात करने लगे। इसी दौरान कंचन कुमारी की शादी खगड़िया जिला के पसराहा थाना के महद्दीपुर में हो गई।

पति को दे दी जानकारी

संतोष भगत महद्दीपुर पहुंच कर उसके पति को बता दिया कि हम दोनों आपस में प्यार करते हैं। फिर कंचन के पति ने उसे छोड़ दिया। कंचन ने बताया कि 10 माह से संतोष भगत नया टोला व मिलटोला में रूम किराये पर लेकर मेरे साथ रहा। फिर मुझसे झूठ बोलकर चला आया। अब वह बात भी नहीं कर रहा। दो दिन पूर्व कंचन नवगछिया से ढोलबज्जा पहुंची। वहां जनप्रतिनिधियों से मिलकर अपनी बात को बताया।

महिला ने दी धरना

सोमवार से महिला संतोष भगत के दरवाजे पर धरना देकर बैठी रही। पूरी रात दरवाजे पर ही रही। महिला का कहना है कि हम संतोष भगत के साथ ही रहेंगे। नहीं तो मैं अपनी जान दे देंगे। महिला का कहना था संतोष भगत के कहने पर पति ने मुझे घर से निकाल दिया है। मैं अब अपना प्यार लेकर रहूंगी। जनप्रतिनिधियों ने महिला को समझा बुझाकार ढोलबज्जा पंचायत भवन लेकर गए वहां से पंचायती कर उसके माता-पिता के साथ वापस भेज दिया।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker