Baliya

कौन सा गाँव जो विकास की खोल रहा पोल

हिन्द मोर्चा न्यूज़ रिपोर्ट बेल्थरारॊड बलिया

बेल्थरारॊड (बलिया) गौवापार कसौंडर मार्ग की स्थिति एकदम जर्जर हो चुकी है। सड़क पर बना गड्ढा बरसात में एक तालाब का रूप धारण कर लिया है। लगभग एक दर्जन गांवों से जुड़े इस मार्ग का कोई पुरसाहाल नहीं है। ग्रामीणों ने उच्चाधिकारियों से इस मार्ग को यथाशीघ्र बनाने की पुरजोर मांग की है।

बेल्थरारोड नगरा मार्ग स्थित गौवापार सिकरहटा मोड़ से कसौंडर जाने वाले मार्ग की दशा अत्यंत दयनीय हो गई है। इस मार्ग से हब्सापुर, सिकरहटा, मसूरिया, भगवानपुर, रुपवार सहित एक दर्जन गांवों के प्रतिदिन 5 से 6 हजार ग्रामीण आते जाते रहते हैं। सड़क की दयनीय स्थिति के चलते इस मार्ग पर हमेशा छोटी मोटी दुर्घटना होती रहती है। गांव में नाले का निर्माण नहीं होने से सड़क पर बने गड्ढों में पानी भरा रहता है। बरसात में तो यह एक तालाब की तरह नजर आता है। छोटे छोटे स्कूली बच्चे भी सड़क पर लगे गंदे पानी से होकर स्कूल जाने को विवश रहते हैं। ग्रामीणों का कहना है कि उनका कोई पुरसाहाल नहीं है।

क्षेत्र के इस मार्ग से होकर गुजरते हुए अमरेश पटेल का कहना है कि जनप्रतिनिधि अपने वाहन से धड़धड़ाते हुए इस मार्ग से गुजर जाते हैं, परन्तु इसका थोड़ा भी ख्याल नहीं करते हैं। कहा कि पिछले 5 साल से सड़क की यही स्थिति है। वहीं सूरज सिंह पटेल का भी कहना है कि इस सम्बन्ध में ग्रामीणों का कोई सुनने वाला नहीं है। अजय पटेल का भी यही कहना है। कि स्कूल जाने वाले छोटे बच्चे अक्सर पानी में गिर जाते हैं बैग काँपी किताब भी भींग जाता है। कहा कि अबतक कितने लोगों के हाथ पैर भी टूट चुके हैं, परन्तु अफसोस कोई हमारा सुनने वाला नहीं है।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker