Ayodhya

शान ए हिंद प्रशस्ति पत्र से सम्मानित हुए मंच संचालक कवि डॉ. तारकेश्वर मिश्र

  • शान ए हिंद प्रशस्ति पत्र से सम्मानित हुए मंच संचालक कवि डॉ. तारकेश्वर मिश्र

अंबेडकरनगर। शायद तुम्हें भी शायरी का शौक लग गया। तुम्हारी बातों से जो खुशबू आती है। चर्चित कवि व मंच संचालक तारकेश्वर मिश्र का यह शेर शायरी की महत्ता को बयां करता है।
जी हां हम बात कर रहे हैं जनपद के शिक्षक कवि व कुशल मंच संचालक डॉ. तारकेश्वर मिश्र की जिनके द्वारा निरंतर साहित्यिक गतिविधियों का प्रस्तुतीकरण हो रहा है। ऑनलाइन हो या ऑफलाइन हर एक साहित्यिक कार्यक्रम में जिज्ञासु की सक्रियता नजर आती है। यूं तो जिज्ञासु पेशे से शिक्षक हैं मगर शैक्षिक गतिविधियों के साथ-साथ अपनी साहित्यिक शौक को अंजाम देने का अवसर अवकाश के दिनों में पूरा कर लेते हैं। जिज्ञासु की शैक्षिक उपलब्धियों के साथ-साथ साहित्यिक रचनात्मक उपलब्धियों में लगभग दर्जनों व्यक्तिगत एवं साझा काव्य संग्रह शामिल हैं। काव्य पाठ के साथ-साथ संचालन का बेहतर किरदार निभाना जिज्ञासु के हर कवि सम्मेलन का स्वर्णिम अवसर होता है। नतीजा यह है कि आए दिन जिज्ञासु के खाते में पुरस्कार एवं सम्मानों की एक श्रृंखला होती है। तमाम प्रतिष्ठित सामाजिक एवं साहित्यिक मंचों के द्वारा जिज्ञासु को अनेक सम्मान मिल चुके हैं। हाल ही में गूगल मीट पर रायबरेली काव्य रस साहित्य मंच द्वारा आयोजित ऑनलाइन कवि सम्मेलन में शानदार प्रस्तुति हेतु संस्था द्वारा संस्था द्वारा जिज्ञास को शान ए हिंद प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया। जिज्ञासु के सम्मान प्राप्ति पर सोशल मीडिया पर शिक्षकों ,कवियों,साहित्यकारों एवं समाजसेवियों द्वारा लगातार बधाई एवं शुभकामनाओं का सिलसिला जारी है।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker