Ayodhya

राक्षसों के विनाश के लिए भगवान श्रीराम ने राजा दशरथ के यहां लिए अवतार-आराधना शास्त्री

  • राक्षसों के विनाश के लिए भगवान श्रीराम ने राजा दशरथ के यहां लिए अवतार-आराधना शास्त्री

जलालपुर।अंबेडकरनगर। राक्षसों के अत्याचार से पृथ्वी कर रही थी। आसुरी शक्तियां पूरे क्षेत्र में पाव पसार चुकी थी।मनुष्य से लेकर ऋषि मुनि आसुरी शक्तियों के अत्याचार से तंग आ चुकी थी। पूरे देश में कोहराम मच गया था। मनुष्य, ऋषि महर्षि क्या देवता इनके अत्याचार के आगे वेवश हो गए थे।

सभी देवता भगवान श्री हरि के पास गए और इन आसुरी शक्तियों के अत्याचार से मुक्ति दिलाने के लिए प्रार्थना करने लगे। देवताओं की बात सुनकर श्री हरि विष्णु ने देवताओं से कहा कि मैं अयोध्या नरेश राजा दशरथ के घर उनके पुत्र रूप में अवतार लूंगा और आसुरी शक्तियों के साथ ही पूरे मंडल से राक्षसों का विनाश कर दूंगा।

श्री हरि के मुख से यह वाणी सुनकर देवता प्रसन्न हो गए और अपने-अपने स्थान पर वापस चले गए। भगवान राम राजा दशरथ के यहां अवतार लेते हैं और बाल काल से ही आसुरी शक्तियों के विनाश और मनुष्यों के साथ ही ऋषि मुनियों के कल्याण में जुट जाते हैं।सनातन सेवा समिति मरहरा द्वारा आयोजित श्रीराम कथा में आराधना शास्त्री ने यह प्रवचन सुनाया।

भगवान श्रीराम समेत अन्य भाईयो के अवतार लेते ही पूरा पांडाल जय श्रीराम के भक्तिमई नारो से गुंजायमान हो गया।इस अवसर पर ग्राम प्रधान राधिका देवी, राजेश तिवारी, अजय गोस्वामी, विजय बहादुर सिंह, राजेंद्र यादव, राजू गुप्ता ,संदीप गुप्ता आदि व्यवस्था में लगे रहे।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker