Ayodhya

महिला अपराधों में सरकार का फरमान मालीपुर में बेअसर,न्याय के लिए भटक रही विवाहिता

  • महिला अपराधों में सरकार का फरमान मालीपुर में बेअसर,न्याय के लिए भटक रही विवाहिता

जलालपुर,अंबेडकरनगर। शासन की लाख कोशिशों के बावजूद भी पुलिस द्वारा पीड़ितों की प्राथमिकी तक दर्ज करने में आना-कानी की जाती है जिसकी वजह से पीड़ित न्याय की आस में इधर-उधर भटकते दिखाई पड़ते हैं। ताजा मामला मालीपुर थाना क्षेत्र से सामने आया है। जहाँ लगभग 5 महीने पूर्व ससुराल से प्रताड़ित होकर पैदल मायके जा रही विवाहिता को मायके छोड़ने की एवज में अनूप यादव पुत्र रामदुलार यादव निवासी ग्राम बीबीपुर थाना मालीपुर द्वारा उसका नंबर ले लिया गया तथा उसके बाद से लगातार महिला को ब्लैक मेल करते हुए शारीरिक सम्बन्ध हेतु दबाव डाला गया। महिला द्वारा नंबर बंद कर देने पर तथा विरोध करने पर आरोपी द्वारा महिला की ससुराल में जाकर उसके चरित्र के ऊपर कीचड़ उछालने का प्रयास किया गया। पीड़ित महिला ने आरोप लगाया की आरोपी द्वारा उसके मायके जाकर उससे शारीरिक संबंध बनाने अथवा जान से मारने की धमकी भी दी गई। इस घटना से आहत पीड़िता द्वारा बीते 19 मार्च को मालीपुर थाने में प्रार्थना पत्र दिया गया था जिस पर पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की गई। महिला अपराधों के संदर्भ में संवेदन शीलता के साथ उनका निराकरण करने के स्पष्ट निर्देशों के बावजूद पुलिस द्वारा न तो पीड़िता या ससुरालीजनों से बात मामले के निराकरण का प्रयास किया गया और न ही पति-पत्नी के बीच हुई अनबन का फायदा उठाते हुए महिला अपराध के आरोपित पर कोई कार्यवाही की गई। पुलिस के इस रवैये से निराश पीड़िता द्वारा रजिस्टर्ड डाक के माध्यम से पुलिस क्षेत्राधिकारी से शिकायत की गई थी जिस पर कार्यवाही करते हुए मुकदमा दर्ज किया गया है। इस संबंध में मालीपुर थाने की थानाध्यक्ष शिवांगी त्रिपाठी से पुलिस का पक्ष जानने का प्रयास किया गया किंतु उनका फोन रिसीव नहीं हुआ।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker