Ayodhya

बगैर भाव की भक्ति से भगवान नहीं होते हैं खुश-ज्ञानानन्द शास्त्री

  • बगैर भाव की भक्ति से भगवान नहीं होते हैं खुश-ज्ञानानन्द शास्त्री

आलापुर,अंबेडकरनगर। भगवान भक्त का भाव देखता है बिना भाव की भक्ति से भगवान खुश नहीं होता है। इसलिए भक्ति भाव में डूबा भक्त भवसागर पार करते हैं। उक्त बातें विकास खण्ड जहांगीरगंज अंतर्गत ग्राम देवरिया पंडित में स्थित हनुमान जी मन्दिर पर नौ दिवसीय श्री राम कथा में भक्त श्रोताओं को सुनाते हुए पंडित ज्ञानानंद शास्त्री जी ने कही। मालूम हो अयोध्या से कथा वाचक पंडित ज्ञानानंद शास्त्री भक्त श्रोताओं को संगीतमई राम कथा सुना रहे हैं जहां क्षेत्र के सैकड़ों गणमान्य लोगों के साथ महिला पुरुष कथा का आनन्द ले रहे हैं। कथा सेवा समिति के अध्यक्ष डॉक्टर राजेन्द्र प्रसाद गुप्ता एवं संरक्षक दयाशंकर यादव ने बताया कि कथा वाचक प्रतिदिन दोपहर एक बजे से शाम पांच बजे तक श्रोताओं को भगवान राम की कथा सुना रहे हैं। तीन फरवरी से आरम्भ हुई कथा की 11 फरवरी को पूर्णाहुति होगी श्री राधा गोविन्द का भव्य अभिषेक सम्पन्न हुआ। इस दौरान आयोजक मण्डल के अध्यक्ष डाक्टर राजेन्द्र प्रसाद गुप्ता, संरक्षक दयाशंकर यादव, अजय यादव, ओरीलाल अग्रहरि, जितेन्द्र सिंह, सत्य नारायण गुप्ता, आचार्य राममणि शुक्ला सहित सैकड़ों ग्रामीण महिला पुरुष मौजूद रहे। पदाधिकारियों ने बताया कि 11 फरवरी को शाम पांच बजे से रात तक भव्य भंडारा एवं प्रसाद वितरण किया जायेगा।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker