Ayodhya

प्राण घातक जैसे अपराध में जेल के बजाय शान्ति भंग की कार्यवाही में जुटी मालीपुर पुलिस

  • प्राण घातक जैसे अपराध में जेल के बजाय शान्ति भंग की कार्यवाही में जुटी मालीपुर पुलिस
  • थाना प्रभारी की इस कार्यशैली को लेकर क्षेत्रवासियां में बना चर्चा का विषय

अंबेडकरनगर। प्राण घातक हमला जैसे संज्ञेय अपराध के दर्ज मुकदमे में पुलिस गिरफ्तारी में खेल कर रही है। किसी मुकदमे में नामजद आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार कर जेल तो अन्य मुकदमे में शांति भंग की धारा में तहसील भेज रही है। शांति भंग की धारा में जमानत पाए हत्या के प्रयास के आरोपी खुल्ला खुल्लम घूम रहे है। स्थानीय पुलिस की कार्यशैली पर जहां उंगली उठ रही है वही पीड़ित वादी को जान का खतरा बना हुआ है इनमे भय व्याप्त है। पुलिस की दोहरी नीति क्षेत्र में चर्चा का विषय बन गई है। यह हाल है मालीपुर थाना का जहां दस दिन के अंदर प्राण घातक हमले की धारा में कुल तीन मुकदमें दर्ज किए गए हैं।

केस-1

ताहापुर गांव के नरेन्द्र वर्मा 4 फरवरी की रात में घर में अकेले सो रहे थे। गांव निवासी कृष्ण कुमार विश्वकर्मा छत के रास्ते घर में घुसा। हत्या के उद्देश्य से पहले हाथ में करंट लगाया।पीड़ित जब करंट के झटके से उठ गया तो आरोपी गला दबाकर हत्या का प्रयास करने लगा। गला दबाने से युवक बेहोश हो गया। किसी तरह दरवाजा खोलकर बाहर निकला। आस-पास के लोगो ने आरोपी को घर से बाहर भागते देखा। रसोई घर में कीट नाशक की शीशी और बिजली का तार मिला। पुलिस ने 6 फरवरी को आरोपी के विरुद्ध हत्या के प्रयास समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया। आरोपी को जेल भेजने के बजाय शांतिभंग में चालान कर दिया। पीड़ित को फोन पर मुकदमा वापस लेने नही थी हत्या की धमकी दी गई।

केस-2

सैरपुर उमरन गांव निवासी भाजपा नेता अरविंद पांडेय पर खेत में फसल पर दवा छिड़काव के दौरान गांव के ही कुल चार लोगों ने प्राण घातक हमला कर दिया। पुलिस ने पीड़ित भाजपा नेता की तहरीर पर 8 फरवरी को दो महिला व दो पुरुष के विरुद्ध साधारण मारपीट की धारा में मुकदमा दर्ज कर लिया। पुलिस अधीक्षक के फटकार के बाद मुकदमे में प्राण घातक हमले समेत अन्य धाराओं की बढ़ोत्तरी की गई। रात में पुलिस ने चारो आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। दूसरे दिन अरविंद पाण्डेय की बेटी के मोबाइल पर जान से मारने की धमकी दी गई।

केस-3

पशुओं के लिए पौष्टिक आहार (पालिश) लेने जा रहे बीबीपुर गांव निवासी सचिन यादव पर गैर जनपद के एक और आसपास के दो युवकों ने हत्या के उद्देश्य से अवैध असलहे से सल्लाहपुर अकबालपुर मुख्य सड़क पर फायर किया। गोली मिस होने के बाद असलहे के बट से सिर पर हमला किया और लात घुसो से पिटाई किया। पीड़ित गंभीर रूप से घायल के भाई संतोष यादव की तहरीर पर 14 फरवरी को मुकदमा दर्ज किया। आरोपियों को जेल भेजने के बजाय आरोपियों को शांति भंग में चालान कर दिया।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker