Ayodhya

प्रधानमंत्री आवास योजना में खेल, ग्राम पंचायत सिसवा में पात्रों के बजाय अपात्रों को किया जा रहा लाभान्वित

  • निष्पक्ष जांच के लिए गठित टीम होने ने किया गया पक्षपात
  • अपात्रों को पात्र और पात्रों को अपात्र बना दिया गया
  • जनसुनवाई पोर्टल (आइजीआरएस) पर ग्रामीणों ने किया शिकायत

अम्बेडकर नगर। प्रधानमंत्री आवास योजना में भ्रष्टाचार और घोटाले के मामले अक्सर सुर्खियों में रहा करते हैं अधिकारी से लेकर कर्मचारियों तक इस खेल में खूब धड़ल्ले से मोटी रकम कमा रहे तो वही दलालों की भी खूब चांदी ही चांदी हो रही है, पूरे जनपद में प्रधानमंत्री आवास योजना भ्रष्टाचार का मामला कहीं न कहीं, किसी न किसी ब्लाक का उजागर होता रहा है लेकिन इस प्रकरण को संज्ञान लेना जिम्मेदारान अधिकारियों ने उचित नहीं समझा।

ताजा मामला विकासखंड अकबरपुर का प्रकाश में आया है जहां पर अपात्रों को कूटरचित ढंग से प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ उपलब्ध करा दिया गया है जबकि वही पात्रों को इससे वंचित रखा गया। शिकायत पर टीम गठित हुई जांच प्रक्रिया चला अधिकारियों ने भी लीपापोती कर मामले का इतिश्री कर दिया।

भ्रष्टाचार अपनी चरम सीमा पर नजर आ रहा है जिससे आहत ग्राम सभा सिसवां निवासी राजेश सिंह,राम भवन,अभिषेक और सीता आदि लोगों ने जनसुनवाई पोर्टल (आईजीआरएस) पर इस मामले की शिकायत करते हुए आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री आवास योजना में हो रहे भ्रष्टाचार और घोटाले की जांच को ग्राम विकास अधिकारी (सचिव) बांकेलाल मौर्य व एडीओ (आईएसबी) अकबरपुर देवेंद्र कुमार वर्मा द्वारा प्रधानमंत्री आवास का निष्पक्ष जांच व सर्वे नहीं किए जाने को लेकर ग्रामीणों में काफी रोष है।

आरोप लगाते हुए क्रमवार बताया है कि ग्राम सभा सिसवां के अपात्र सुमन उपाध्याय पत्नी महेंद्र उपाध्याय को कूट रचित ढंग से पात्र बना दिया गया। इकलौता पुत्र होते हुए और पक्का मकान होने के बावजूद प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिया गया जबकि पक्का घर शीशे की खिड़कियां और दरवाजा से भरपूर है।

वही गरीबी का दंश झेल रहे दीनता का जीवन व्यतीत कर रहे पात्र की श्रेणी में आने वाले राम मोहन पुत्र राधेश्याम जिसके पास आज तक पक्का मकान नहीं है जो पूर्णतया पात्र की श्रेणी में आता है उसे अपात्र घोषित कर दिया गया वही अच्छे लाल पुत्र फागु जो कि पात्र व्यक्ति है निरीह गरीब है को अपात्र कर दिया गया.

गंगाराम/बंसीलाल जो कि प्रधानमंत्री आवास योजना का पात्र होते हुए भी अपात्र कर दिया गया। ऐसे ग्राम सभा में कई गरीब निधि दीनहीन की स्थिति में जीवन गुजारने वाले कच्चे मकानों में रहने वाले पात्र व्यक्ति हैं जिनके साथ या अन्याय किया गया। आइजीआरएस पोर्टल पर उपर्युक्त बिंदुओं को संज्ञान में लेते हुए टीम गठित कर निष्पक्ष जांच कराकर पात्र व्यक्तियों को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिलाने की अपील की गई है और अपात्र व्यक्तियों को पात्र की श्रेणी से हटाने की मांग की गई है।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

Back to top button
error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker