Ayodhya

दबंग भू माफिया से गोलपुर के ग्रामीण परेशान, प्रशासनिक अधिकारी मौन

  • दबंग भू माफिया से गोलपुर के ग्रामीण परेशान, प्रशासनिक अधिकारी मौन

अम्बेडकरनगर। जलालपुर तहसील क्षेत्र के ग्राम
सभा गोलपुर के एक कथित भाजपा नेता अमरनाथ सिंह के दबंगई से पूरा गांव परेशान है। अपनी सत्ता का धौस दिखाकर गरीबों की जमीन पर कब्जा करना एवं ग्राम प्रधान पर दबाव बनाकर सरकारी पैसे का गमन करना उसका पेशा बन गया है। गांव के दूसरे पुरवा के गरीब दलित बस्ती के सुग्रीम अपनी आबादी की जमीन पर एक साल पहले घर बनवा रहा था।उस दबंग ने उक्त जमीन को अपना जमीन बाता कर रुकवा दिया और उस पर दीवानी कर दिया, जिससे पीड़ित सुग्रीम करीब एक साल से अधिकारियों के चक्कर लगा रहा है ।

लेकिन आज तक उसकी कोई सुनवाई कहीं नहीं हुई। और अभी हाल ही में एक मामला प्रकाश में आया है, दिनांक 5 मार्च 2024 को गांव के दूसरे पुरवा की एक दलित वेवा महिला बहुता देवी पत्नी स्वर्गीय खुनखुन को प्रधानमंत्री आवास मिला था और वह अपनी जमीन पर इसका निर्माण कार्य शुरू कराई लेकिन उक्त दबंग नेता अमरनाथ सिंह द्वारा उसकी जमीन को अपनी जमीन बता कर उसके निर्माण कार्य को भी रोकवा दिय जब उक्त बेवा ग्राम प्रधान के पास गई तो ग्राम प्रधान ने भी उसे डांट कर भगा दिया और कहा कि वह भाजपा के नेता हैं। उनके खिलाफ हम कुछ नहीं कर सकते अच्छा होगा कि तुम अपनी जमीन उन्हें दे दो, परेशान होकर उक्त महिला ने जिला अधिकारी एवं मुख्यमंत्री पोर्टल पर इसकी शिकायत दिनांक 9 मार्च 2024 को की है

जमीन की लालसा एवं सत्ता की नशा का ऐसा उदाहरण शायद ही कहीं देखने को मिले। जिससे भाजपा का डर दिखाकर उक्त कथित नेता गांव वासियों की जमीन हड़पता जा रहा है। इसी क्रम में गांव के ही गुलाब चंद्र पुत्र रामसुंदर कनौजिया की पट्टा सुदा जमीन को भी अपना बताकर पिछले चार-पांच वर्षों से कब्जा नहीं लेने दे रहा है। और उस पर भी मुकदमा कर दिया इतना ही नहीं स्वर्गीय राज प्रकाश पांडे पुत्र स्वर्गीय श्रीकांत पांडे के घर के सामने भी 2018-19 में जबरन उनका पुराना खंडहर घर गिर कर अपना घर बनवा लिया, उक्त पीड़ित द्वारा दर-दर भटकने पर जब कहीं से कोई सुनवाई नहीं हुई तो थक हार कर बैठ गया।

और इस सदमे को सहन न कर पाया जिसकी वजह से राज प्रकाश पांडे का हार्ट अटैक से मौत भी हो गया। और अब उनके भाई राम प्रकाश के सहन पर भी जबरन कब्जा करने की कोशिश कर रहा है। जो राम प्रकाश द्वारा मंदिर निर्माण के लिए छोड़ी गई थी क्योंकि उक्त दबंग खुद को भाजपा का नेता बताता है। और सत्ता का धौंस जमाता है,इसलिए शासन और प्रशासन इसके खिलाफ कोई भी कार्यवाही करने से बचते आ रहे हैं। और अगर किसी पुलिस वाले ने गलती से भी उसके खिलाफ कुछ भी एक्शन लेने की कोशिश की तो या तो उसको सस्पेंड कराने की धमकी देता है या फिर गांव की ही एक महिला द्वारा उसे पर छेड़छाड़ या अन्य किसी केस में फसाने की धमकी देता है।

क्यों की जो भी उसके खिलाफ़ कुछ भी बोलता है तो उसी महिला को सामने करके उस पर फर्जी केस करवा देता है। गांव ही प्रेम प्रकाश पांडे नरसिंह,सर्य नारायण ने बताया कि इसका जीता जागता उदाहरण कुछ दिन पहले पहले राम प्रकाश पाण्डेय द्वारा मंदिर बनवाने के लिए छोडी गई जमीन पर कब्जे का विरोध किया,उक्त नेता द्वारा जबरन कब्जा करने का प्रयास में असफल होने पर बदला लेने के उद्देश्य से हमारे पुत्रो पर उक्त महिला से छेड़छाड़ व अन्य धाराओं में केस दर्ज करवा दिया। जो अभी पढ़ रहे है, और कुछ तो नाबालिक है।

यही नहीं जलालपुर थाने के एक सिपाही ने सच्चाई बोलने की कोशिश की जिसको उसी महिला के द्वारा फर्जी केस में फंसाए जाने की कोशिश की गई । जिसके डर से पुलिस वाले भी कोई कार्रवाई नहीं कर पाते अब देखना यह है कि उक्त दलित बेवा महिला बहुता देवी सहित गांव के अन्य पीड़ितों को जिलाधिकारी व मुख्यमंत्री के यहां से कोई इंसाफ मिलता है या सत्ता और गरीबों की लड़ाई में फिर सत्ता की जीत होती है। और गरीबों को फिर दर-दर भटकने के लिए छोड़ दिया जाएगा।

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker