Ayodhya

अम्बेडकर नगर: शिक्षक एआरपी गिरोह ने आउटसोर्सिंग कंपनी में नौकरी दिलाने के नाम पर दर्जनों युवकों को बनाया ठगी का शिकार, अब लोग रूपया पाने को लेकर काट रहे चक्कर

ज्ञान सिंह – लखनऊ।

यूपी के अंबेडकर नगर जिले में आउटसोर्सिंग कंपनी में नौकरी दिलाने का गिरोह सक्रिय है इस गिरोह में शिक्षक एआरपी व परिषदीय विद्यालय के प्रधानाध्यापक सहित आधा दर्जन लोगों को शामिल होना बताया जा रहा है। ठगी का शिकार हुए युवकों के हाथ नौकरी न मिलने पर वे गाढ़ी कमाई का दिए लाखों रुपए वापस पाने को लेकर चक्कर काटने को मजबूर हैं।

ज्ञात हो कि यह मामला लगभग 4 साल पहले का है।

सूत्रों के अनुसार उक्त गिरोह का सरगना शिक्षक एआरपी उक्त जिले के भीटी शिक्षा क्षेत्र का है, दूसरा कटेहरी अंतर्गत एक विद्यालय में प्रधानाध्यापक है, इन्हें ब्लाक स्तरीय संगठन में पदाधिकारी होना बताया जा रहा है।थाना बेवाना क्षेत्र के एक भुक्तभोगी युवक ने दूरभाष पर बताया कि इस गिरोह के शिक्षक एआरपी ने उस दौरान एबीएसएम आउटसोर्सिंग एंड सिक्योरिटी सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड लखनऊ के जरिए कलेक्ट्रेट अंबेडकरनगर में चतुर्थ श्रेणी के पद पर नौकरी दिलाने के लिए तीन लाख रुपए लिया और और नियुक्ति पत्र भी दिए जिसे लेकर कलेक्ट्रेट में लगभग 10 दिन नौकरी किए।

बताया कि तत्कालीन जिलाधिकारी ने जब इसके बारे में जाना तो उनके द्वारा मुझे और अन्य युवकों जिनसे रुपया लेकर पत्र दिया गया था सभी को फर्जी कहकर कार्यालय से हटा दिया गया। बताया कि अब अपने दिए रुपए को वापस करने के लिए कह रहे हैं तो शिक्षक एआरपी अपने गिरोह के लोगों से दिलाने की बात कहते और टरकाते आ रहे हैं.

इस बीच उनके द्वारा एक लाख रुपए दिया गया है। बताया कि, जब कि संपूर्ण धनराशि गिरोह के सरगना के आवास पर दिया था और यह जानकारी उनकी पत्नी को भी है | इस मामले में “हिंदमोर्चा” को कई ऑडियो और कागजात मिले हैं जिसके आधार पर यह कहा जा सकता है कि कहीं ना कहीं यह गिरोह इस जिले के अलावा अन्य जनपदों में भी युवकों को नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने में सक्रिय है।

( ऑडियो और कागजात के जरिए इस गिरोह का जल्द होगा खुलासा)

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

Back to top button
error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker