Ajab Gajab

UP : चौथे फ्लोर पर चढ़ लड़की बोली… कूद जाउंगी, तभी पहुंचे ACP कहा- भाई हूं तेरा

गाजियाबाद के इंदिरापुरम में गुरुवार की शाम सुसाइड की नीयत से एक लड़की चौथी मंजिल पर चढ़ गई. सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे एसीपी स्वतंत्र कुमार सिंह ने लड़की को बड़ी मुश्किल से समझाया और फिर उसे नीचे ले आए. लड़की ने बताया कि उसके पिता उसकी पढ़ाई छुड़ाना चाहते हैं, इसलिए वह परेशान है. एसीपी ने लड़की का भाई बन अपना फर्ज निभाने का वादा किया है.

राष्ट्रीय राजधानी से सटे गाजियाबाद में गुरुवार की शाम एक लड़की ने बिल्डिंग की टेरस पर चढ़ कर हाई बोल्टेज ड्रॉमा शुरू कर दिया. लड़की टेरस पर ऐसी जगह खड़ी थी, जहां थोड़ी सी चूक में भी वह नीचे गिर सकती थी. उसे टेरस पर देखकर भारी भीड़ जमा हो गई. लोग उसका वीडियो बनाने लगे. सूचना मिलने पर पुलिस पहुंची और बड़ी मुश्किल से समझाबुझा कर उसे नीचे उतारा. पता चला कि इस लड़की की मां का देहांत हो चुका है और उसके पिता पढ़ाई छुड़ाना चाहते हैं.

मामला इंदिरापुरम थाना क्षेत्र के अभय खंड पुलिस चौकी के पास का है. पुलिस के मुताबिक मौके पर मौजूद किसी व्यक्ति ने घटना की जानकारी दी थी. बताया था कि एक लड़की बिल्डिंग के चौथे फ्लोर पर चढ़ गई है और सुसाइड करना चाहती है. वह टेरस पर ऐसी जगह जाकर खड़ी हो गई थी कि थोड़ी सी चूक होने पर वह नीचे गिर सकती थी. जैसे ही स्थानीय लोगों को घटना की जानकारी हुई, मौके पर भारी भीड़ जमा हो गई. लोग घटना का वीडियो बनाने लगे.

इतने में इंदिरापुरम थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और लड़की को बचाने की कोशिश की. लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ. इसके बाद मौके पर एसीपी इंदिरापुरम स्वतंत्र कुमार सिंह पहुंचे और उन्होंने खुद टेरस पर जाकर लड़की को समझाया. उसे भरोसा दिया कि उसकी पढ़ाई में कोई बाधा नहीं आएगी. वह उसके भाई की तरह ही हैं और भाई का फर्ज निभाते हुए उसकी पढ़ाई में पूरा सपोर्ट करेंगे. थोड़ी देर तक समझाने के बाद लड़की नीचे उतरने के लिए तैयार हो गई. इसके बाद एसीपी उसे अपने साथ लेकर नीचे उतरे. लेकिन नीचे उतर कर लड़की बेहोश हो गई.

एसीपी द्वारा लड़की की काउंसलिंग का एक वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है. पुलिस के मुताबिक मां की मौत के बाद से ही युवती की मानसिक हालत ठीक नहीं है. घर में भी वह छोटी से छोटी बात को लेकर बखेड़ा खड़ा कर देती है. उसके पिता की चार संतान हैं. इनमें यह लड़की दूसरे नंबर की है.

एसीपी स्वतंत्र कुमार सिंह के मुताबिक जब वह घटना स्थल पर पहुंचे तो वहां काफी भीड़ लगी थी. लोग उसे समझाने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन, वह किसी की बात सुनने को तैयार नहीं थी. उन्होंने बताया कि कोई उपाय सुझते ना देख वह पड़ोस की बिल्डिंग की चौथी मंजिल पर पहुंचे और उसके करीब जाकर समझाया.

पूरी खबर देखें

संबंधित खबरें

error: Sorry! This content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker